Search This Blog

Dec 29, 2017

कमल विहार,इन्द्रप्रस्थ रायपुरा फ्लैट्स के आवेदन की तिथि 31 जनवरी 2018 तक बढ़ी

ईडब्लूएस, एलआईजी फ्लैट्स में प्रधानमंत्री आवास योजना
के अतंर्गत बैंकों के माध्यम से अनुदान की सुविधा भी

रायपुर, 29 दिसंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण ने कमल विहार व इन्द्रप्रस्थ योजना के ईडब्लूएस व एलआईजी फ्लैट्स के बुकिंग की तिथि को एक माह के लिए और बढ़ा दिया है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत मिल रही अनुदान की सुविधा का लाभ ले सकें. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव की पहल पर आवेदक अब 31 जनवरी तक अपना आवेदन रायपुर विकास प्राधिकरण कार्यालय में प्रस्तुत कर सकेंगे.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि कमल विहार में प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत 768 ईडब्लूएस फ्लैट्स तथा 768 एलआईजी 1 फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा. ईडब्लूएस फ्लैट्स को 2 बीएचके तथा अनुमानित कीमत 5 लाख रुपए तथा एलआईजी 1 में बीएचके तथा अनुमानित कीमत 8 लाख रुपए है. ईडब्लूएस फ्लैट्स में लगभग 40 प्रतिशत फ्लैट्स तथा एलआईजी 1 में 62 प्रतिशत फ्लैट्स की बुकिंग हो चुकी है. इसी प्रकार इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में 1 बीएचके के 1472 फ्लैट्स का निर्माण होना है. इसकी अनुमानित कीमत 4.79 लाख रुपए है. इसमें लगभग 80 प्रतिशत फ्लैट्स की बुकिंग की जा चुकी है तथा निर्माण कार्य भी प्रगति पर है. श्री कावरे ने आगे बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत ईड्ब्लूएस फ्लैट्स में 1.50 लाख रुपए का अनुदान तथा एलआईजी1 में केन्द्र सरकार व्दारा 6.5 प्रतिशत ब्याज ऋण में अनुदान बैंकों के माध्यम से मिलेगा. 

Dec 26, 2017

आरडीए का तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला 28 दिसंबर से कमल विहार स्थल कार्यालय में

⏺ रायपुर, 26 दिसंबर 2017, प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं में फ्लैट्स, कमल विहार और इन्द्रप्रस्थ रायपुरा योजना में विकसित आवासीय तथा व्यावसायिक प्लॉटों तथा दुकानों जैसी संपत्तियों के विक्रय तथा उसके लिए बैंकों तथा वित्तदायी संस्थाओं से ऋण की सुविधाओं के लिए रायपुर विकास प्राधिकरण तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन करने जा रहा है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव की पहल पर यह प्रापर्टी लोन मेला 28,29 व 30 दिसंबर 2017 को प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक होगा. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे के अनुसार कमल विहार योजना के स्थल कार्यालय में लगने वाले प्रापर्टी मेला में ऋण के साथ प्राधिकरण की उपलब्ध संपत्तियों की विस्तृत जानकारी आगंतुकों को दी जाएगी.

Dec 13, 2017

आरडीए के बकाया वसूली अभियान में तेजी

हीरापुर, बोरियाखुर्द, सरोना और बोरियाखुर्द फ्लैटों में 1 लाख रुपए
से अधिक के बकायादारों नल कनेक्शन कटेंगे
बकाया राशि के एक मुश्त भुगतान पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट भी

रायपुर,13 दिसंबर 2017, लगभग 22 करोड़ की बकाया राशि की वसूली के लिए रायपुर विकास प्राधिकरण ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है. प्राधिकरण की बार बार की नोटिस और सूचना देने के बावजूद भी राशि जमा नहीं करने के कारण बकाया राशि में काफी इजाफा हुआ है. डॉ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी आवास योजना की हीरापुर, सरोना और बोरियाखुर्द के फ्लैट्स में जिन आवंटितियों पर एक लाख रुपए या उससे अधिक की राशि बकाया है उनको पानी की आपूर्ति बंद कर दी जाएगी. इसके लिए ऐसे फ्लैट्स के नल काट दिए जाएंगे. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने आज वसूली के संबंध में हुई एक बैठक में उक्त निर्देश दिए. श्री कावरे गत दो दिनों में स्वयं इन फ्लैट्स में जा कर बकाया राशि नहीं देने वालों से मुलाकात की और उन्हें बकाया राशि जमा करने की अपील की.
        प्राधिकरण की डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी आवास योजना की हीरापुर, सरोना और बोरियाखुर्द के अंतर्गत कुल 3888 फ्लैट्स है जिनमें 2910 आवंटितियों नियमित रुप से किश्तें जमा करने की श्रेणी में आते हैं. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन की सक्रियता के कारण अब पूरा राजस्व शाखा आधे दिन बकाया राशि की वसूली के लिए योजना स्थल जा रहे हैं. इनमें प्राधिकरण के अतिरिक्त सीईओ श्री एस.आर.दीवान के नेतृत्व में सहायक राजस्व अधिकारी श्री आर.एस. दीक्षित सहित पूरी टीम लिखित नोटिस व जानकारी दे रही है. ताकि लोग समय रहते बकाया राशि एक मुश्त जमा कर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट का लाभ भी ले सकें.  

Dec 4, 2017

इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के 1472 ईडब्लूएस फ्लैट्स के अनुदान राशि की केन्द्र से पहली किस्त 3.55 करोड़ केन्द्र से मिली

कमल विहार, इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के ईडब्लूएस, बोरियाखुर्द के एलआईजी की भी हो रही बुकिंग
💎 रायपुर, 4 दिसंबर 2017, इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत बन रहे 1472 ईडब्लूएस फ्लैट्स के लिए केन्द्र सरकार व्दारा दिए जाने वाले अनुदान की पहली किस्त 3.55 करोड़ रुपए रायपुर विकास प्राधिकरण को मिल गई है. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे के अनुसार ईड्ब्लूएस फ्लैट्स की कीमत रुपए 4.79 लाख रुपए है. इसमें अनुदान की राशि का लाभ रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा आवंटितियों को दिया जाएगा. 1472 ईडब्लूएस में से 1132 फ्लैट्स की बुकिंग हो चुकी है. इस योजना की कुल लागत लगभग 70 करोड 50 लाख रुपए है. वर्तमान में इन फ्लैट्स की बुकिंग प्राधिकरण व्दारा की जा रही है. इसकी अंतिम तिथि 30 दिसंबर 2017 है.

Nov 30, 2017

कमल विहार के ईड्ब्लूएस, एलआईजी फ्लैट्स के आवेदन की तिथि 8 दिसंबर तक बढ़ी

इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के ईडब्लूएस, बोरियाखुर्द के एलआईजी की भी हो रही बुकिंग

रायपुर, 30 नवंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण ने कमल विहार के ईडब्लूएस फ्लैट्स, एलआईजी1 और एलआईजी 2 फ्लैट्स की बुकिंग का समय बढ़ा दिया है. कमल विहार के इन फ्लैट्स की काफी मांग है और लोगों ने अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव से इसके लिए और समय दिए जाने की मांग की थी.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि कमल विहार में प्राधिकरण व्दारा प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 5 लाख की कीमत के ईडब्लूएस फ्लैट्स, 8 लाख की कीमत वाले एलआईजी1 तथा साढ़े 10 लाख रुपए की कीमत के एलआईजी2 फ्लैट्स की बुकिंग की जा रही है. इसमें ईडब्लूएस व एलआईजी1 में दो बीएचके तथा एलआईजी2 तीन बीएचके की सुविधा होगी.  प्राधिकरण इस योजना में 768 ईडब्लूएस, 768 एलआईजी1 तथा 512 एलआईजी2 फ्लैट्स का निर्माण करेगा.
इसके अतिरिक्त प्राधिकऱण व्दारा इन्द्रपस्थ रायपुरा में प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत 1472 ईडब्लएस फ्लैट्स की बुकिंग भी कर रहा है. 2 बीएचके की सुविधा वाले इस निर्माणाधीन फ्लैट्स की अनुमानित कीमत 4.79 लाख रुपए है. इसी प्रकार बोरियाखुर्द में 2बीएचके के एलआईजी फ्लैट्स जिसकी अनुमानित कीमत 7.88 लाख रुपए है. की बुकिंग भी जारी है.      

Nov 29, 2017

आवासीय योजनाओं पर आरडीए दे रहा बकाया सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट

एक मुश्त भुगतान करने पर ही मिल रही छूट


रायपुर, 29 नवंबर 2017, आरडीए की विभिन्न योजनाओं में रहने वाले निवासियों को उनके बकाया राशि में 50 प्रतिशत की छूट मिल रही है. यह छूट सिर्फ आवासीय उपयोग के भूखंडों व भवनों के लिए 30 दिसंबर 2017 तक ही दी जा रही है. छूट एकमुश्त बकाया राशि जमा करने पर ही मिलेगी. प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि गत अगस्त में भी प्राधिकरण व्दारा सरचार्ज राशि में 30 प्रतिशत की छूट दी गई थी जिसके कारण काफी लोगों ने छूट का लाभ लिया था. उन्होंने बताया कि प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में वर्तमान में आवासीय में कुल 11,184 आवासीय आवंटिती हैं, जिनसे प्राधिकरण को किश्त किराया, भूभाटक, वाटर चार्जेस, मेंटेनेन्स चार्ज आदि के मद में राजस्व की प्राप्ति होती है. श्री कावरे ने बताया कि सरचार्ज में छूट देने से आवंटिति राशि की बचत को देखते हुए अधिक से अधिक राशि जमा करते हैं. इसलिए प्राधिकरण व्दारा यह छूट दी जा रही है. 

Nov 10, 2017

आरडीए की सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट शुरु

आवासीय संपत्तियों में एक मुश्त भुगतान करने पर ही मिलेगी छूट

रायपुर, 10 नवंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण के संचालक मंडल के निर्णय के बाद प्राधिकरण ने अपनी समस्त योजनाओं में आवासीय संपत्तियों में एकमुश्त बकाया राशि जमा करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट देना शुरु कर दिया है. प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि गत अगस्त में भी प्राधिकरण व्दारा सरचार्ज राशि में 30 प्रतिशत की छूट दी थी जिसके फलस्वरुप बकायादारों ने छूट का लाभ लेते हुए राशि जमा की थी. उन्होंने बताया कि प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में वर्तमान में कुल 14373 हितग्राही है जिसमें 11,184 आवासीय हितग्राही आवंटिती हैं, जिनसे प्राधिकरण को किश्त किराया, भूभाटक, वाटर चार्जेस, मेंटेनेन्स चार्ज आदि के मद में राजस्व की प्राप्ति होती है. श्री कावरे ने बताया कि सरचार्ज में छूट देने से आवंटिति राशि की बचत को देखते हुए अधिक से अधिक राशि जमा करते हैं. इसलिए प्राधिकरण व्दारा यह छूट दी जा रही है. 

Nov 8, 2017

कमल विहार एलआईजी 2 के आवेदन अब 15 तक

ईड्ब्लूएस व एलआईजी 1 के आवेदन 30 नवंबर तक जमा होंगे

रायपुर, 8 नवंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा कमल विहार में 3 बीएचके फ्लैट्स एलआईजी 2 के आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि बढ़ा कर 15 नवंबर 2017 कर दी गई है. इसी प्रकार ईडब्लूएस व एलआईजी 1 के आवेदन 30 नवंबर तक लिए जा सकेंगे.
  प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि कमल विहार में एलआईजी 2 का कारपेट एरिया 645 वर्गफुट है व कीमत लगभग साढ़े 10 लाख रुपए है. जबकि दो बीएचके के ईडब्लूएस का कारपेट एरिया 322 वर्गफुट व कीमत 5 लाख है. वहीं दो बीएचके के एलआईजी 1 फ्लैट्स का कारपेट एरिया 586 वर्गफुट व कीमत लगभग 8 लाख रुपए है. उन्होंने कहा कि आवेदकों की लगातार मांग पर प्राधिकरण की आवेदन पत्र जमा करने की तिथि आगे बढ़ाई गई है.

Nov 3, 2017

रायपुर संचालक मंडल के फैसले



नजूल व शासकीय भूमि पर लगने वाला 6 -1/2% भूभाटक अब नाम मात्र होगा  
रायपुर विकास प्राधिकरण के संचालक मंडल की बैठक में राज्य शासन व्दारा छत्तीसगढ़ नगर तथा ग्राम निवेश विकसित भूमियों,गृहों, भवनों तथा अन्य संरचानाओं का व्ययन नियम 1975 के नियम 47 में किए गए संशोधन की जानकारी प्रस्तुत की गई. श्री कावरे ने बताया कि इस संशोधन के फलस्वरुप शासकीय व नजूल भूमि पर लगने वाले साढ़े 6 प्रतिशत भूभाटक के कारण प्राधिकरण के विकसित भूखंड नहीं बिक पा रहे थे क्योंकि उनमें भूभाटक की राशि काफी अधिक यानि लाखों में हो जाती थी. उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि राज्य शासन व्दारा किए गए संशोधन के बाद अब यदि रावांभाठा ट्रांसपोर्ट नगर में 4800 वर्गफुट के विकसित प्लॉट में भूभाटक 23 पैसा प्रति वर्गफुट लगेगा, जिससे देय भूभाटक की राशि रुपए 1,104 रुपए होगी. पूर्व में यही भूभाटक साढ़े 6 प्रतिशत की दर से 5 लाख 79 हजार 72 रुपए होता था. इस कारण संपत्ति नहीं बिक रही थी. इस संशोधन के बाद प्राधिकरण की कई ऐसी प्रापर्टी का विक्रय करना अब आसान हो जाएगा.
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में पुलिस चौकी
गत 23 जुलाई 2017 को दिनों आवास एवं पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत के इन्द्रप्रस्थ दौरे निवासियों ने सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस चौकी खोले जाने कि मांग की थी. इस संदर्भ में प्राधिकरण के संचालक मंडल ने इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में के योजना क्षेत्र में 1000 वर्गफुट भूमि मानचित्र में अंकित कर पुलिस अधीक्षक को भेजे गए पत्र को कार्येत्तर स्वीकृति प्रदान की. इस प्रक्रिया से अब इन्दप्रस्थ रायपुरा में पुलिस चौकी शीघ्र ही खोले जाने का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है किन्तु भूमि स्वामित्व रायपुर विकास प्राधिकरण का होगा.

फ्लैट्स के पंजीयन राशि नियमानुसार वापस होगी 
आरडीए के संचालक मंडल के समक्ष रखे गए प्रस्ताव कि फ्लैट्स के लिए आवेदन देने वालों में कुछ आवेदक पंजीयन कराने के कराने के बाद किसी न किसी कारण से पंजीयन राशि वापस करने की मांग करते हैं. इससे जहां फ्लैट के विक्रय में परेशानी होती है वहीं कार्यालयीन कार्य भी प्रभावित होता है. इस पर निर्णय लिया गया कि पंजीयनकर्ता व्दारा पंजीयन राशि वापस मांगने पर उन्हें पंजीयन की शर्त के अनुसार ही कटौती कर राशि वापस की जाए.
कमल विहार के प्लॉटों पर छूट की अवधि बढ़ी, 30 दिसंबर तक मिलेगा छूट का लाभ
संचालक मंडल ने कमल विहार योजना में गत 21 सितंबर से 31 अक्टूबर तक विभिन्न प्रकार के प्लॉटों पर दी गई छूट की अवधि को बढ़ा कर 30 दिसंबर 2017 तक करने पर भी अपनी मुहर लगाई. बैठक में इस विषय में चर्चा के दौरान बताया गया कि प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार व्दारा विक्रय किए जा रही संपत्तियों के आंकलन के बाद दिए गए सुझाव पर यह निर्णय लिया गया है. इसके अनुसार प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना में प्लॉट लेने वालों को 2 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक की छूट देगा.
इसके अतंर्गत आवासीय भूखंडों पर 2000 वर्गफुट आकार तक 2 प्रतिशत, 2001 से 3000 वर्गफुट तक 10 प्रतिशत, 3001 से 5000 वर्गफुट आकार के प्लाटों पर 12 प्रतिशत तथा 5001 से अधिक आकार के आवासीय भूखंडों पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी. बिजनेस उपयोग के मिश्रित,पीएसपी, स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल के व्यावसायिक भूखंडों,  पर 25 प्रतिशत, सीबीडी के 5 एकड़ व्यवासायिक क्षेत्र में अलग अलग भूखंड लेने पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. जबकि स्वास्थ्य तथा स्कूल के विकसित भूखंडों पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी.

आवासीय संपत्तियों में एक मुश्त भुगतान करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट    
संचालक मंडल ने प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में आवासीय संपत्तियों में बकाया राशि जमा करने पर एक मुश्त भुगतान करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया है. गत अगस्त में प्राधिकरण व्दारा सरचार्ज राशि में 30 प्रतिशत की छूट दी गई थी. बकाया राशि के संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी.कावरे ने बैठक में बताया कि प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में वर्तमान में कुल 14373 हितग्राही है जिसमें 11,184 आवासीय हितग्राही एवं 3189 व्यावसायिक हितग्राही है, जिनसे प्राधिकरण को किश्त किराया, भूभाटक, वाटर चार्जेस, मेंटेनेन्स चार्ज आदि के मद में राजस्व की प्राप्ति होती है. श्री कावरे ने बताया कि प्राधिकरण की न्यून निम्न आय वर्ग की डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी आवास योजनाओं में लगभग 24 करोड़ रुपए का बकाया है. इन मकानों से प्रत्येक माह 69.21 लाख रुपए की राशि किश्तों के मद में प्राप्त होना है. सरचार्ज में छूट देने से हितग्राही अधिक से अधिक राशि जमा करते हैं.

कमल विहार में अवार्ड पारित भूस्वामियों को भूखंडों का आवंटन नहीं   
संचालक मंडल ने एक अन्य प्रस्ताव में यह निर्णय लिया कि कमल विहार में जिन भूस्वामियों को उनकी भूमि के मुआवजे का अवार्ड पारित कर दिया गया है. अब उनको पुर्नगठित भूखंड का आवंटन नहीं किया जाएगा. यदि भूमि स्वामी विकसित भूखंड लेना चाहता है तो उसे सामान्य प्रक्रिया के अंतर्गत भूखंड प्राप्त कर सकता है. अवार्ड पारित मामलों में यदि पुर्नगठित भूखंड आरक्षित है तो उसे विक्रय की सूची में शामिल करने का निर्णय लिया गया.   


रायपुर विकास प्राधिकरण संचालक मंडल की बैठक में अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव के साथ उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धनदास खंडेलवाल व श्री रमेश सिंह ठाकुर, संचालक मंडल के सदस्य सचिव व मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे, श्री सतीश पांण्डे अवर सचिव वित्त विभाग, श्री जी.एल. सांकला अवर सचिव आवास एवं पर्यावरण विभाग, श्री आर.ए.पाठक अधीक्षण अभियंता छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी, श्री एम. के. गुप्ता संयुक्त संचालक संचालनालय छत्तीसगढ़ नगर तथा ग्राम निवेश, श्री विनीत नायर संयुक्त संचालक, नगर एवं ग्राम निवेश रायपुर, श्री संजय ब्रिजपुरिया कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, श्री सुबीर तिवारी अनुविभागीय अधिकारी वन विभाग, अशासकीय सदसय् श्री गोपी साहू, श्री नारद कौशल, श्री रविन्द्र बंजारे, श्रीमती सुनयना शुक्ला व श्रीमती एम. लक्ष्मी शामिल थे.   

Nov 2, 2017

इन्दप्रस्थ रायपुरा में संचालित वंडरलैंड रिक्रिएशन पार्क का आवंटन निरस्त कर सकता है आरडीए...!

रखरखाव के नाम पर अक्सर बंद रहने से नाराज आरडीए अध्यक्ष

रायपुर 02 नवंबर 2017, रायपुरा में संचालित वंडरलैंड रिक्रिशन पार्क का नियमित रुप से संचालन नहीं होने पर आज रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने पंचामृत कंपनी कोलकाता को नोटिस देने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा भले ही कोलकाता की पंचामृत कंपनी की ओर कोई राशि बकाया नहीं है पर इसका यह मतलब नहीं है कि वह शहर में मनोरंजन के लिए आवंटित भूमि पर स्थापित रिक्रिएशन पार्क को रखरखाव के नाम पर अधिकांश समय तक बंद रखे. वंडरलैंड रिक्रिएशन पार्क लोगों के मनोरंजन के लिए बनाया गया है. कई बार इसकी शिकायतें मिली है जब से यह शुरु हुआ है अधिकांश समय यह बंद रहा है तथा इसके संचालकों ने इस पर ध्यान नहीं दिया है. वंडरलैंड रिक्रिएशन पार्क का नियमित रुप से संचालन होना चाहिए. यहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्वीमिंग पूल भी इसीलिए बनाया गया है ताकि यहां की खेल प्रतिभाओं को राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मौका मिल सके. यदि कंपनी इसका संचालन नहीं कर सकती है तो रायपुर विकास प्राधिकरण उसका आवंटन निरस्त कर दूसरे को आवंटित कर देगा ताकि जनता को मनोरंजन की इस सुविधा का नियमित रुप से लाभ मिल सके.         

ईड्ब्लूएस और एलआईजी की गुणवत्ता और प्रगति बेहतर
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा योजना के स्थल निरीक्षण के दौरान आज आरडीए अध्यक्ष के साथ उपाध्यक्ष श्री
गोवर्धनदास खंडेलवाल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे,अतिरिक्त सीईओ श्री एस.आर. दीवान, अधीक्षण अभियंता श्री अनवर खान भी उपस्थित थे. स्थल निरीक्षण के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत बन रहे 944 एलआईजी और 1472 ईड्ब्लूएस फ्लैट्स के निर्माण का भी अवलोकन किया. कार्य की गुणवत्ता तथा प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए श्री श्रोवास्तव ने इसे समय का ध्यान रखते हुए पूरा किया जाए. इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के फेज 2 में विकसित प्लॉट के लिए अधोसंरचना विकास की गति को उन्होंने और बढ़ाने का निर्देश दिया. प्राधिकरण यहां आवासीय के साथ ही व्यावसायिक, व्यवासायिक सह आवासीय, स्वास्थ्य और शैक्षणिक उपयोग के लिए भूखंड विकसित कर रहा जिसका विक्रय भी किया जा रहा है. 

Nov 1, 2017

कमल विहार के 5 सेक्टरों में निर्माण गति धीमी होने के कारण एलएंडटी कंपनी को मिली फटकार

नक्शे के विरुध्द निर्माण से पाईप लाईनों को हुआ नुकसान
विद्युत मंडल से कनेक्शन से एक सप्ताह में लिया जाए

रायपुर 01 नवंबर 2017, कमल विहार में विकसित किए जा रहे 5 सेक्टरों में निर्माण कार्य में देरी करने के कारण अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने निर्माण कंपनी लार्सन एंड टूब्रों के टीम लीडर को आज अच्छी खासी डॉंट पिलाई. कमल विहार के सेक्टर 1, 11ए,11बी,14बी व सेक्टर 15ए में अधोसंरचना विकास का कार्य काफी धीमा चल रहा है इस कारण आरडीए अध्यक्ष ने नाराजगी व्यक्त की. उधर विद्युत सब स्टेशन की स्थापना का कार्य पूर्ण हो चुका है. इसमें अब विद्युत मंडल से कनेक्शन लेने का कार्य बाकी है जिसे एक सप्ताह में पूरा करने का निर्देश दिए गए. श्री श्रीवास्तव ने आज प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री रमेश सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी  श्री एम.डी. कावरे, मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया के साथ योजना का दौरा किया. इस दौरान कमल विहार रेसीडेन्स एसोसियेशनल के सदस्य भी उपस्थित थे.
स्थल निरीक्षण के दौरान आरडीए अध्यक्ष ने यह निर्देश दिया गया कि सेक्टर1 में जहां मकान बन गए हैं वहां विद्युत के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के बदले स्थाई विद्युत कनेक्शन दिए जाने की व्यवस्था की जाए. जिन मकानों के सामने सोलर लाईटें लगी है उन्हें चालू किया जाए. सेक्टर 1 की सड़क को रामकृष्णा अस्पताल की मुख्य सड़क से जोड़ने का कार्य किया जाए. जिन स्थानों पर उद्यान विकसित किया जाना है वहां का लैंड स्केप डिजाईन कर कार्य प्रारंभ किया जाए. सेक्टर 15ए में सीमांकन कार्य करवाया जाए ताकि वहां बचा हुआ अधोसंरचना विकास हो सके. इसी प्रकार अन्य सेक्टरों में अधोसंरचना विकास का कार्य तेजी से किया जाए.

स्थल निरीक्षण के दौरान आरडीए अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कमल विहार रेसीडेंस एसोसियेशन से अपील की कि वे जो व्यक्ति भी योजना में अपने भवन का निर्माण कर रहे हैं उन्हें इस बात के लिए प्रेरित करें कि वे नगर पालिक निगम रायपुर व्दारा स्वीकृत नक्शे के अनुरुप ही भवनों का निर्माण करें. वर्तमान में पाईप लाईनों के उपर भवन निर्माण करने की शिकायत आई है जिसके टूट-फूट की परेशानी हो सकती है. नियम विरुद्ध निर्माण करने से आने वाले समय में सीवर लाईऩ, बिजली व आईटी के केबल जैसी भूमिगत भूमिगत अधोसंरचना को नुकसान पहुंच सकता है. इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए कि भवन निर्माण के दौरान भूमिगत पाईप लाईनों को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचे.

Oct 31, 2017

कमल विहार में प्लाटों पर छूट, और छूट पर छूट की मिली सफलता से आरडीए ने छूट की अवधि 30 दिसंबर तक बढ़ाई

🔴 बैंक को ब्याज देने के बदले खरीददारों को छूट का फायदा दे रहा आरडीए
 
रायपुर 31 अक्टूबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कमल विहार योजना में दी जा रही भारी छूट को बढ़ा कर अब 30 दिसंबर 2017 तक किए जाने की घोषणा की ही. पहले यह छूट 31 अक्टूबर तक थी. छत्तीसगढ़ राज्योत्सव का अवसर और खरीददारों को बैंक के ब्याज का फायदा देने तथा डिस्काऊंट मॉडल को लगातार मिल रही सफलता को कारण कमल विहार में पुनः छूट की घोषणा की गई है.
दरअसल प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कुछ समय पहले प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार से चर्चा में पाया कि कमल विहार योजना के बैंक से लिए गए ऋण पर मूलधन की राशि की वापसी तथा मूलधन पर ब्याज देने की प्रक्रिया में यदि समय से पहले ही राशि मिल जाए और उसे बैंक को वापस कर दिया जाए तो प्राधिकरण को लगने वाले ब्याज की राशि कम हो जाएगी. ऐसे में यदि राशि आती है तो इसका सीधा लाभ खरीददार को दिया जा सकता है. मतलब यह कि बैंकों को दिए जाने वाले ब्याज राशि का सीधा फायदा खरीददारों को दिया जा सकता है. प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार व्दारा इस सिध्दांत पर काम करते हुए अधिकतम 25 प्रतिशत तक की छूट का डिसकाऊंट मॉडल तैयार किया था जिसे सितंबर में लागू करने के बाद अब फिर से बढ़ा कर 30 दिसंबर 2017 तक कर दिया गया है. उल्लेखनीय है कि गत 21 सितंबर से आज तक प्राधिकरण लगभग साढ़े 15 करोड़ रुपए के प्लाटों की बिक्री कर चुका है. डिसकाऊंट मॉडल के प्रति लोगों की रुचि ने भी अच्छा खासा आकर्षण पैदा किया है.    
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि इस छूट के अंतर्गत 2 से 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. उन्होंने बताया कि 2000 वर्गफुट तक के आवासीय भूखंड पर 2 प्रतिशत, 2001 से 3000 वर्गफुट पर 10 प्रतिशत, 3001 से 5000 वर्गफुट पर 12 प्रतिशत तथा 5001 वर्गफुट से अधिक आकार के विकसित भूखंड पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी. बिजनेस के प्लाटों में स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल, मिश्रित तथा पीएसपी के प्लाटों पर 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. 5 एकड़ के सीबीडी क्षेत्र में बिजनेस प्लॉट अलग – अलग लेने पर  15 प्रतिशत की छूट तथा स्वास्थ्य एवं शैक्षणिक प्लाट पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. इन छूट के अलावा विकसित हो रहे सेक्टर 1,11ए, 11बी, एवं 14 बी सेक्टर में 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट अलग से दी जाएगी. इसका मतलब कि छूट पर भी छूट दी जा  रही है. आवासीय प्लाटों का आवंटन लॉटरी से तथा अन्य सभी प्लॉटों का आवंटन उच्चतम निविदा दर के प्रस्ताव के आधार पर किया जाएगा. छूट की सुविधा तभी मिलेगी जब प्लॉट आवंटन के 60 दिनों के भीतर पूरा राशि का भुगतान किया जाए. आवंटन हर बुघवार को किए जा रहे हैं.