Search This Blog

Sep 20, 2017

आरडीए ने की 3 नई फ्लैट्स स्कीम की घोषणा

संपत्ति और ऋण देने कल से तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला
कमल विहार के प्लाटों पर भी भारी छूट

कमल विहार में 5,8 और 10.50 लाख के 2048 फ्लैट्स
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में 17.78 व 27.05 लाख रुपए के 78 फ्लैट्स
न्यू राजेन्द्रनगर में 25.85 से 35.94 लाख रुपए के 124 फ्लैट्स

रायपुर, 20 सितंबर 2017रायपुर विकास प्राधिकरण ने आज तीन नई फ्लैट्स योजनाओं के निर्माण की घोषणा की है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने आज तीन नई फ्लैट्स योजनाओं की घोषणा करते हुए बताया कि कमल विहार, इन्द्रप्रस्थ रायपुरा तता न्यू राजेन्द्रनगर में आधुनिक सुविधाओं के साथ कुल 2250 फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा. इसके अतिरिक्त कमल विहार के विकसित प्लाटों पर 2 से 25 प्रतिशत की छूट और कल से तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन भी किया जा रहा है.
श्री श्रीवास्तव ने बताया कि इसमें कमल विहार योजना के अतंर्गत 5 लाख रुपए के 768 ईड्ब्लूएस फ्लैट्स (2 बीएचके), 8 लाख रुपए के 768 एलआईजी – 1 (2 बीएचके) फ्लैट्स तथा 10.50 लाख रुपए में 512 एलआईजी - 2 फ्लैट्स (3 बीएचके) बनाए जाएंगे. इन्द्रप्रस्थ रायपुरा योजना में 17.78 लाख रुपए के 2 बीएचके तथा 27.05 लाख रुपए के 3 बीएचके के कुल 78 फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा. इसके अतिरिक्त न्यू राजेन्द्रनगर स्थित कार्यालय परिसर के पीछे मध्यम और उच्च वर्ग के लिए 25.85 लाख रुपए से 35.94 लाख रुपए की लागत वाले 2 व 3 बीएचके के 124 आवासयी फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा.
प्राधिकरण ने गत दिनों संचालक मंडल में हुए निर्णय के अनुसार 21 सितंबर से 31 अक्टूबर 2017 तक कमल विहार योजना के विकसित प्लॉटों में त्यौहारों के अवसर पर भारी छूट देने की घोषणा की है. विभिन्न उपयोग के प्लाटों पर अब 2 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक की छूट दी जाईगी. कमल विहार के विकसित हो रहे चार सेक्टरों में भी 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाएगी. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस में कमल विहार में विकसित प्लॉटों के विक्रय के लिए नए डिस्काऊंट मॉडल की घोषणा की
आरडीए के कार्यालय में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेस में अध्यक्ष श्री श्रीवास्तव ने बताया कि कमल विहार योजना के व्यावसायिक, आवासीय, व्यावसायिक सह आवासीय, स्वास्थ्य व शैक्षणिक उपयोग के निविदा से आवंटित किए जाने वाले प्लॉटों पर संचालक मंडल ने आकर्षक छूट दिए जाने की स्वीकृति प्रदान की है. सबसे ज्यादा छूट व्यावसायिक यानि बिजनेस के प्लाटों पर दी गई है. इसमें स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल के बिजनेस प्लॉट्स, सार्वजनिक व अर्ध्दसार्वजनिक उपयोग, व्यावसायिक सह आवासीय (कम्पोजिट) तथा सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र का व्यावसायिक  प्लॉटों को एक साथ लेने पर सीधी 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. सीबीडी के प्लॉट यदि अलग अलग लिए जाते हैं तो ऐसी स्थिति में 15 प्रतिशत की छूट ही देय होगी. स्वास्थ्य और शैक्षणिक उपयोग के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट होगी. आवासीय प्लाटों में 2000 वर्गफुट से छोटे आकार के प्लाटों पर 2 प्रतिशत की, 2000 वर्गफुट से 3000 वर्गफुट तक के प्लाटों पर 10 प्रतिशत, 3000 से 5000 वर्गफुट तक के प्लॉटों पर 12 प्रतिशत तथा 5000 वर्गफुट से बड़े आकार के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. जबकि कमल विहार के विकसित किए जा रहे सेक्टर 01,11ए, 11बी, 14बी सेक्टरों के सभी प्रकार के प्लॉटों में 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाएगी. प्राधिकरण आवासीय प्लाटों को लॉटरी के माध्यम से आवंटित करता है  जबकि अन्य सभी प्लाट निविदा के माध्मय से आवंटित होते हैं. संचालक मंडल ने पूर्व में लागू प्रो रेटा आधार पर दी जाने वाली छूट को अब खत्म कर दिया है. कमल विहार के विभिन्न प्रकार के प्लाटों पर दी गई यह छूट आवंटन आदेश की तिथि से 60 दिनों में भुगतान करने पर ही दी जाएगी.
3 दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला - संपत्ति खरीदने के इच्छुक लोगों के लिए प्राधिकरण ने अपने नए डिस्काऊंट मॉडल का आधार पर कल से तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन किया है. यह मेला रायपुर विकास प्राधिकरण के न्यू राजेन्द्रनगर कार्यालय परिसर के व्दितीय तल में होगा. 21, 22 व 23 सिंतबर 2017 होने वाला यह मेला प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा. प्रापर्टी लोन मेला में रायपुर विकास प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं में उपलब्ध प्लॉट्स, फ्लैट्स, डुप्लेक्स, दुकानें, हॉल के आवंटन एवं ऋण की जानकारी दी जाएगी. मेला में विभिन्न बैंकों व वित्तदायी संस्थाओं के अधिकारियों और प्रतिनिधियों से आगंतुकों की सीधी मुलाकात होगी. मेला में प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत जिन्हें फ्लैटस आवंटित किए गए हैं वे भी आवास ऋण लेने के लिए संपर्क कर सकते हैं. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने अनुसार प्रापर्टी लोन मेला के माध्यम से संपत्ति क्रय करने वाले लोगों को एक ही स्थान पर प्रापर्टी व लोन की जानकारी मिलने से काफी सुविधा होती है तथा जानकारी मिलने पर संपत्ति खरीदने की पूरी प्रक्रिया भी आसान हो जाती है.


कमल विहार योजना में विशेष छूट का विवरण
क्रं.
प्लाटों का उपयोग
निर्धारित ऑफसेट दर
(रुपए में प्रति वर्गफुट में)
छूट का %
01
व्यावासायिक
स्कीम लेवल (5 एकड़ से भिन्न)
2680
25%
सेक्टर लेवल
2245
02
व्यावसायिक सह आवासीय (कम्पोजिट)
3340
03
सार्वजनिक – अर्ध्द सार्वजनिक
2094
04
व्यावसायिक
(सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र का पूरा प्लॉट एक साथ लेने पर)
2680
05
व्यावसायिक
(सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र में अलग – अलग प्लाट लेने पर)
2680
15%
06
स्वास्थ्य
1392
15%
07
शैक्षणिक
696
15%
08
आवासीय

2000 वर्गफुट तक
1781
02%
2000 से 3000 वर्गफुट तक

1696

10%
3000 से 5000 वर्गफुट तक
12%
5000 वर्गफुट से बड़ा आकार
15%
कमल विहार योजना के विकसित हो रहे सेक्टर 01,11ए,11बी,14बी के
सभी प्रकार के प्लाटों में 5% की अतिरिक्त छूट उपलब्ध
टीपः- (1) विशेष छूट आवंटन आदेश की तिथि के 60 दिनों तक भुगतान करने पर ही मिलेगी. (2) आवंटन टीपः- (1) विशेष छूट आवंटन आदेश की तिथि के 60 दिनों तक भुगतान करने पर ही मिलेगी. (2) आवंटन हर सप्ताह बुधवार व अंतिम तिथि 31.10.2017 को किया जाएगा.(3) आवासीय प्लाटों का आवंटन लॉटरी से तथा अन्य सभी प्लॉटों का आवंटन निविदा के माध्यम से किया जाएगा. आवेदन पत्र प्राधिकरण कार्यालय अथवा वेबसाईट www.rdaraipur.com से डाऊनलोड किया जा सकता है.


Sep 17, 2017

डिस्काऊंट के नए मॉडल के साथ आरडीए में प्रापर्टी लोन मेला 21सितंबर से


आवासीय प्लॉट, फ्लैट्स, बिजनेस प्लॉट के लिए ऋण देनेजुटेंगे कई बैंक और वित्तदायी संस्थाएं
21, 22 व 23 सिंतबर 2017 तक चलेगा प्रापर्टी लोन मेला 



      डिस्काऊंट मॉडल के आधार पर कमल विहार के प्लाटों पर भारी छूट देने  देने जा रहा है. 21 सितंबर से शुरु हो रहे डिस्काऊंट मॉडल के साथ आवासीय प्लॉट, फ्लैट्स व बिजनेस प्लॉट के लिए ऋण देने लिए कई बैंकों और वित्तदायी संस्थाओं के साथ कार्यालय परिसर में एक प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन किया जा रहा है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने अनुसार प्रापर्टी लोन मेला के माध्यम से संपत्ति क्रय करने वाले लोगों को एक ही स्थान पर प्रापर्टी व लोन की जानकारी मिलने से काफी सुविधा होती है तथा जानकारी मिलने पर संपत्ति खरीदने की पूरी प्रक्रिया भी आसान हो जाती है.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया तीन दिवसीय यह प्रापर्टी लोन मेला प्रातः 11 से शाम 5 बजे तक होगा. उन्होंने कहा कि पहले भी इस प्रकार के प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन किया गया जिससे लोगों को संपत्तियां खरीदने में काफी आसानी हुई है. श्री कावरे ने कहा कि प्राधिकरण संचालक मंडल के निर्णय के अनुसार कमल विहार के बिजनेस व बिजनेस सह आवासीय (कम्पोजिट) प्लाट पर 25 प्रतिशत की छूट, स्वास्थ्य व शैक्षणिक प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट तथा आवासीय पर 2 से 15 प्रतिशत तक की छूट 21 सितंबर से 31 अक्टूबर 2017 तक दी जाएगी. इसके अलावा 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट कमल विहार के विकसित हो रहे चार सेक्टरों यथा सेक्टर 01,11ए,11बी, व 14बी में दी जाएगी. इस छूट के चलते जिन्हें प्लाट आवंटित होगा उन्हें आवंटन आदेश के 60 दिनों में पूरी राशि का भुगतान करना होगा. प्लाटों का आवंटन हर बुधवार और अंतिम तिथि 31 अक्टूबर को किया जाएगा. आवासीय प्लाटों का आवंटन निर्धारित दर पर लाटरी से तथा अन्य सभी प्रकार के प्लाटों का निविदा प्रपत्र में दी गई निर्धारित दर के अनुसार प्रस्तावित किए जाने वाले उच्चतम दर के प्रस्ताव के आधार पर किया जाएगा. कावरे ने कहा प्रापर्टी लोन मेला में प्राधिकरण की सभी उपलब्ध  सभी प्रकार की संपत्तियों की जानकारी दी जाएगी. जिसमें नई योजनाओं में बनने वाले फ्लैट्स भी शामिल होगें. प्रापर्टी लोन मेला में प्राधिकरण की प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में बनने वाले एलआईजी तथा ईडब्लूएस फ्लैट्स तथा बोरियाखुर्द में बनने वाले एलआईजी फ्लैट्स के आवंटितियों को भी आवासीय ऋण मिल सकेगा. इसके लिए विभिन्न बैंकों तथा वित्तदायी संस्थाओं से ऋण उपलब्ध कराने के लिए अधिकारी व प्रतिनिधि उपलब्ध रहेंगे.                                 
                                                       

Sep 16, 2017

आरडीए ने रद्द किए 22 प्लॉट, 198 को जारी होगा नोटिस

कमल विहार की अच्छी लोकेशन में प्लॉट लिए,
पर किस्त नहीं पटाई, आरडीए ने रद्द किए 22 प्लॉट
198 आवंटितियों को राशि जमा करने आरडीए देगा नोटिस
निरस्त प्लॉट पुनः बेचे जाएंगे

रायपुर, 16 सितंबर 2017रायपुर विकास प्राधिकरण ने आज कमल विहार योजना में लंबे समय से किस्तों का भुगतान नहीं करने वाले 22 आवंटितियों के प्लॉट का आवंटन निरस्त कर दिया. ऐसे आवंटितियों पर प्राधिकरण का लगभग 34 करोड़ रुपए की राशि बकाया है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने आज कार्यालय में आयोजित एक समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया.
मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम. डी. कावरे ने बताया कि 22 आवंटिति ऐसे है जिन्होंने आवेदन के साथ जमा पंजीयन राशि के अतिरिक्त अन्य किस्तों की राशि जमा नहीं की थी. इनको प्राधिकरण ने बार – बार राशि जमा करने की सूचना दी पर उनके व्दारा राशि जमा नहीं की गई. इसमें ऐसे लोग भी शामिल है जिनको सन् 2014 में प्लाट का आवंटन किया गया था.
श्री कावरे ने बताया कि अब 198 आवंटिति ऐसे हैं जो प्लॉट आवंटन के बाद से राशि का भुगतान निर्धारित समय में नहीं कर रहे हैं. ऐसे लोगों को प्राधिकरण एक सप्ताह में राशि जमा करने के लिए नोटिस जारी करेगा. राशि का भुगतान नहीं होने पर उनका आवंटन रद्द कर दिया जाएगा. श्री कावरे के अनुसार निरस्त किए गए प्लॉट अच्छी लोकेशन के प्लॉट है. अब इन प्लाटों के लिए प्राधिकरण पुनः आवेदन पत्र आमंत्रित कर उनका नए सिरे से आवंटन करेगा.  

Aug 28, 2017

प्राधिकण संचालक मंडल के निर्णय

 कमल विहार के प्लॉट्स के नया डिस्काऊन्ट मॉडल - 21 सितंबर से भारी छूट
50% राशि दे कर शैलेन्द्रनगर - बोरियाखुर्द की दुकानों का मिलेगा कब्जा  
आमोद – प्रमोद विकसित करने के लिए 50% तक की छूट


रायपुर, 28 अगस्त 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण ने कमल विहार योजना के विकसित प्लॉटों में त्यौहारों के अवसर पर भारी छूट देने की घोषणा की है. विभिन्न उपयोग के प्लाटों पर अब 3 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक की छूट दी जाईगी. कमल विहार के विकसित हो रहे चार सेक्टरों में भी 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाएगी. प्राधिकरण के संचालक मंडल की बैठक में आज कमल विहार के आमोद – प्रमोद की सुविधाएं विकसित करने के लिए निवेशकों को 10 एकड़ या उससे अधिक बड़ा प्लाट खरीदने पर सीधे 50 प्रतिशत तक की छूट देने की स्वीकृति दी गई है. शैलेन्द्रनगर व बोरियाखुर्द की दुकानों के लिए अब 50 प्रतिशत राशि देने पर आवंटिति को उसका कब्जा दिया जाएगा. डिस्काऊंट मॉडल की यह घोषणा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने आज की. प्राधिकरण के संचालक मंडल के सचिव और प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बैठक में प्रस्ताव प्रस्तुत किया.  
आरडीए अध्यक्ष श्री श्रीवास्तव ने बताया कि कमल विहार योजना के व्यवासायिक, आवासीय, व्यावसायिक सह आवासीय, स्वास्थ्य व शैक्षणिक उपयोग के निविदा से आवंटित किए जाने वाले प्लॉटों पर संचालक मंडल ने आकर्षक छूट दिए जाने की स्वीकृति प्रदान की है. सबसे ज्यादा छूट व्यावसायिक यानि बिजनेस के प्लाटों पर दी गई है. इसमें स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल के बिजनेस प्लॉट्स, सार्वजनिक व अर्ध्दसार्वजनिक उपयोग, व्यावसायिक सह आवासीय (कम्पोजिट) तथा सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र का व्यावसायिक  प्लॉटों को एक साथ लेने पर सीधी 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. सीबीडी के प्लॉट यदि अलग अलग लिए जाते हैं तो ऐसी स्थिति में 15 प्रतिशत की छूट ही देय होगी. स्वास्थ्य और शैक्षणिक उपयोग के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट होगी. आवासीय प्लाटों में 2000 वर्गफुट से छोटे आकार के प्लाटों पर 2 प्रतिशत की, 2000 वर्गफुट से 3000 वर्गफुट तक के प्लाटों पर 10 प्रतिशत, 3000 से 5000 वर्गफुट तक के प्लॉटों पर 12 प्रतिशत तथा 5000 वर्गफुट से बड़े आकार के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. जबकि कमल विहार के विकसित किए जा रहे सेक्टर 01,11ए, 11बी, 14बी सेक्टरों के सभी प्रकार के प्लॉटों में 5 प्रतिशत की अतिरिक्त दी जाएगी. प्राधिकरण आवासीय प्लाटों को लॉटरी के माध्यम से आवंटित करता है  जबकि अन्य सभी प्लाट निविदा के माध्मय से आवंटित होते हैं. संचालक मंडल ने पूर्व में लागू प्रो रेटा आधार पर दी जाने वाली छूट को अब खत्म कर दिया है. कमल विहार के विभिन्न प्रकार प्लाटों पर दी गई यह छूट आवंटन आदेश की तिथि से 60 दिनों में भुगतान करने पर ही दी जाएगी. 

कमल विहार योजना में विशेष छूट का विवरण
क्रं.
प्लाटों का उपयोग
निर्धारित ऑफसेट दर
(रुपए में प्रति वर्गफुट में)
छूट का %
छूट के उपरांत निर्धारित ऑफसेट दर (रुपए में प्रति वर्गफुट में)
01
व्यावासायिक
स्कीम लेवल
(5 एकड़ से भिन्न)
2680
25%
2010
सेक्टर लेवल
2245
1684
02
व्यावसायिक सह आवासीय (कम्पोजिट)
3340
2505
03
सार्वजनिक – अर्ध्द सार्वजनिक
2094
1571
04
व्यावसायिक
(सीबीडी क्षेत्र में अलग – अलग प्लाट लेने पर)
2680
15%
2278
05
व्यावसायिक
(5 एकड़ क्षेत्र एक साथ)
2680
25%
2010
06
स्वास्थ्य
1392
15%
1183
07
शैक्षणिक
696
15%
592
08
आवासीय





2000 वर्गफुट तक
1781
02%
1745
2000 से 3000 वर्गफुट तक

1696

10%
1526
3000 से 5000 वर्गफुट तक
12%
1492
5000 वर्गफुट से बड़ा आकार
15%
1442
कमल विहार योजना के विकसित हो रहे सेक्टर 01,11ए,11बी,14बी के
सभी प्रकार के प्लाटों में 5% की अतिरिक्त छूट उपलब्ध
टीपः- (1) विशेष छूट आवंटन आदेश की तिथि के 60 दिनों तक भुगतान करने पर ही मिलेगी. (2) आवंटन हर सप्ताह बुधवार व अंतिम तिथि 31.10.2017 को किया जाएगा.(3) आवासीय प्लाटों का आवंटन लॉटरी से तथा अन्य सभी प्लॉटों का आवंटन निविदा के माध्यम से किया जाएगा. आवेदन पत्र प्राधिकरण कार्यालय अथवा वेबसाईट www.rdaraipur.com से डाऊनलोड किया जा सकता है.

आमोद – प्रमोद के लिए भूमि में 40% से 50% तक की छूट
कमल विहार योजना में आमोद – प्रमोद के लिए सेक्टर – 3 में आरक्षित भूमि में निवेशकों को आकर्षित करने मनोरंजन व पिकनिक स्थल विकसित करने के लिए भूमि आवंटन में 40 से 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय भी लिया गया है. इसमें पूर्व में निर्धारित भूमि 710 रुपए प्रति वर्गफुट में छूट देते हुए 5 एकड़ तक की भूमि लेने पर 40 प्रतिशत की 5 से 10 एकड़ भूमि लेने पर 45 प्रतिशत की तथा 10 एकड़ से अधिक भूमि लेने पर निवेशकों को 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. इस हेतु निवेशकों को क्रमशः एक , दो व तीन वर्ष में राशि का भुगतान करना होगा.

कमल विहार की आमोद –प्रमोद की भूमि पर छूट का विवरण
क्षेत्रफल
निर्धारित आफसेट दर
(प्रति वर्गफुट
रुपए में)
प्रस्तावित छूट
का %
छूट के पश्चात दर
(प्रति वर्गफुट
रुपए में)
भुगतान की अवधि

1 से 5 एकड़
710/-
40%
426/-
01 वर्ष
5 से 10 एकड़
45%
390/-
02 वर्ष
10 से ज्यादा
50%
355/-
03 वर्ष


6 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने निविदा का निगोसिएशन
संचालक मंडल ने प्राधिकरण की नगर विकास योजना कमल विहार में 5 और इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में एक जल- मल शोधन संयंत्र (सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट - STP) के निर्माण के लिए प्राप्त निविदा में निगोसिएशन की अनुमति प्रदान की. इसकी कुल लागत 65 करोड़ 52 लाख 06 हजार 016 रुपए होगी तथा 10 साल तक इसका रखरखाव और संचालन किया जाएगा.
बोरिया तालाब के सौन्दर्यीकरण को प्रशासकीय स्वीकृति
संचालक मंडल ने कमल विहार योजना स्थित गजराजबांधा तालाब (बोरिया तालाब) के 225 एकड़ क्षेत्र में आमोद – प्रमोद की गतिविधियों हेतु प्रथम चरण में तालाब के विकास एवं संरक्षण, तालाब के चारो ओर के तटबंधों का विकास, पैदल पथ मार्ग, साईकिल ट्रैक एवं पचरी का निर्माण एवं विद्युत व्यवस्था के विकास के लिए रुपए 15.24 करोड़ की राशि की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की. इस कार्य हेतु राज्य शासन से अनुदान प्राप्त किया जाएगा. 
न्यू राजेन्द्रनगर में 124 फ्लैट्स निर्माण 26.08 लाख से
न्यू राजेन्द्रनगर में प्राधिकरण कार्यालय के पीछे स्थित भूमि पर 124 फ्लैट्स निर्माण हेतु 26.08 करोड़ रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति व निविदा आमंत्रण की स्वीकृत प्राधिकरण संचालक मंडल दी. इसके अंतर्गत 790 वर्गफुट से 1098 वर्गफुट के फ्लैट्स बनेंगे. यह फ्लैट्स 2 बीएचके तथा 3 बीएचके के होंगे.
 महिला वसृति गृह के किराये में वृध्दि
शहर में बाहर से आकर नौकरी करने वाली कामकाजी महिलाओं के निवास हेतु निर्मित महिला वसृति गृह के किराए में छह साल बाद वृध्दि की गई है. सन् 1992 में कलेक्टोरेट परिसर में शुरु किए गए इस वसृति गृह में 30 कामकाजी महिलाओं के रहने की व्यवस्था है. इसमें जल सफाई के लिए दो सौ रुपए मासिक शुल्क लिया जाएगा. संचालक मंडल ने वर्तमान में ली जा रही किराया राशि को अब बढ़ा कर दोगुना कर दिया है.

फ्लैट्स का जलप्रदाय व संधारण शुल्क 10 अप्रैल तक, अग्रिम पर 6% की छूट
संचालक मंडल ने प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं में निर्मित बहुमंजिलीय फ्लैट्स जो नगर पालिक निगम रायपुर को हस्तांतरित नहीं हुई हैं, उनका जलप्रदाय व रखरखाव प्राधिकरण व्दारा किया जा रहा है. ऐसे बहुमंजिलीय फ्लैट्स के जलप्रदाय शुल्क व संधारण का वार्षिक शुल्क 1 से 10 अप्रैल के मध्य तक लिया जाएगा. इसके बाद की अवधि में राशि जमा करने पर नियमानुसार 15 प्रतिशत वार्षिक की दर से सरचार्ज राशि देय होगी. आवंटितियों व्दारा अग्रिम राशि जमा करने पर 6 प्रतिशत की छूट दी जाएगी.
शैलेन्द्रनगर व बोरियाखुर्द की दुकानें का कब्जा अब 50% राशि देने पर
प्राधिकरण के संचालक मंडल ने प्राधिकरण की बोरियाखुर्द में निर्माणाधीन 48 दुकानों के आवंटन नीति में परिवर्तन कर मात्र 50 प्रतिशत की राशि दिए जाने पर दुकानों का कब्जा दिए जाने की स्वीकृति दी है. इसमें शेष 50 प्रतिशत की राशि 10 समान किस्तों में ली जाएगी. शैलेन्द्रनगर योजना के प्रथम तल में बन रही दुकानों जो कार्यालय उपयोग,कंसल्टिंग चेम्बर्स इत्यादि के लिए भी उपयोगी है को 50 प्रतिशत राशि का भुगतान करने पर कब्जा दिया जाएगा और शेष राशि 10 किस्तों में भुगतान करना होगा. वर्तमान में बोरियाखुर्द में 39 दुकानें तथा शैलेन्द्रनगर में 20 दुकानें प्रथम तल पर विक्रय के लिए उपलब्ध है.

संचालक मंडल की बैठक में प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धनदास खंडेलवाल व श्री रमेश सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे, शासकीय सदस्य आवास एवं पर्यावरण विभाग के अवर सचिव श्री जी.एल. सांकला, छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण अभियंता श्री आर.ए.पाठक, नगर पालिक निगम के अतिरिक्त आयुक्त श्री आशीष सिन्हा, वन विभाग के एसडीओ श्री सुबीर तिवारी, लोक निर्माण विभाग के श्री जे.पी. चन्द्रसेन, अशासकीय सदस्य श्री गोपी साहू, श्री रविन्द्र बंजारे, श्री नारद कौशल व श्रीमती एम. लक्ष्मी तथा प्राधिकरण के अतिरिक्त सीईओ श्री एस.आर. दीवान और मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया भी उपस्थित थे.