Search This Blog

Aug 13, 2018

✅ कमल विहार में स्थायी विद्युत कनेक्शन शुरु

निवासियों को कनेक्शन के लिए विद्युत कंपनी को करना होगा आवेदन

रायपुर, 13 अगस्त 2018, कमल विहार योजना के निवासियों तथा नए घरों का निर्माण करने वालों को अब स्थायी विद्युत कनेक्शन मिलना शुरु हो गया है. कमल विहार सेक्टर 4 के निवासी श्री लोकेश कुमार पचबिए को आज छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड व्दारा उनके आवेदन पर पहला स्थायी विद्युत कनेक्शन प्रदान किया.
रायपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह ने बताया कि कमल विहार के निवासियों को हो रही दिक्कत के फलस्वरुप प्राधिकरण के अधिकारियों को यह निर्देश दिया गया था कि वे विद्युत सब स्टेशन से ट्रांसफार्मर और ट्रांसफार्मर से फीडर पिल्लरों को उर्जीकृत किए जाने के बाद हर प्लॉट तक स्थायी कनेक्शन दिए जाने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी के साथ समन्वय बना कर कार्य करें. फलस्वरुप आज कमल विहार में श्री लोकेश कुमार को पहला स्थायी विद्युत कनेक्शन दिया गया. इस कनेक्शन के बाद वहां रह रहे निवासियों को जिन्होंने अस्थायी विद्युत कनेक्शन ले रखा है उन्हें अब स्थायी विद्युत कनेक्शन मिल सकेगा. श्री सिंह ने कहा कि स्थायी विद्युत कनेक्शन हेतु आवेदकों को छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के पुरैना स्थित कार्यालय से संपर्क करना होगा.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिंह ने बताया की कमल विहार में अपना मकान बना कर रहने वाले निवासियों ने इसके पहले सेक्टर 3 व सेक्टर 5 के ट्रांसफार्मर से विभिन्न सेक्टरों में काफी दूर दूर तक बिजली की तारें खींच कर कनेक्शन लिया था. इतनी दूरी से कनेक्शन लेने के कारण वहां के खंबों पर झूलती हुई तारों के कारण खंबों पर अनावश्यक वजन बढ़ा तथा खंबों पर खिचाव पड़ने के कारण पहले एक दो दुर्घटनाएं हो चुकी है. इसलिए प्राधिकरण ने नागरिकों की सुविधा और असुविधाओं को दूर करने के लिए सेक्टर 2,4,5,6,7ए, 8ए, 9 व 10 के विभिन्न स्थानों में स्थापित किए गए फीडर पिल्लरों को उर्जीकृत किया है ताकि कमल विहार के हर प्लॉट को स्थायी विद्युत कनेक्शन दिया जा सके.

Aug 4, 2018

✅ कमल विहार के विरुद्ध एऩजीटी, नई दिल्ली में दायर याचिका खारिज

रायपुर 04 अगस्त 2018, नेशनल ग्रीन ट्रॉयब्यूनल, प्रधान पीठ, नई दिल्ली ने रायपुर विकास प्राधिकरण की कमल विहार योजना के अंतर्गत पर्यावरणीय अनुमति के संबंध में याचिकाकर्ता राजेन्द्र शंकर शुक्ला व्दारा विरुध्द भारत सरकार, छत्तीसगढ़ शासन, रायपुर विकास प्राधिकरण के विरुद्ध प्रस्तुत याचिका को खारिज कर दिया है.
इस संबंध में प्राधिकरण के अधिवक्ता श्री राजुल कुमार श्रीवास्तव ने माननीय ट्रॉयब्यूनल के समक्ष यह जानकारी प्रस्तुत की थी कि कमल विहार योजना की पर्यावरणीय स्वीकृति भारत सरकार पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के राज्य स्तर समाघात निर्धारित प्राधिकरण छत्तीसगढ़ के पत्र क्रमांक 868/एस.ई.ए.सी.छ.ग./सी.जी./10 दिनांक 22.01.2018 के अनुसार प्राप्त की जा चुकी है. इस पर माननीय ट्रॉयब्यूनल ने अपने निर्णय में कहा है कि रायपुर विकास प्राधिकरण ने सूचित किया है कि याचिकाकर्ता के भूखंड पर रायपुर विकास प्राधिकरण ने कोई निर्माण नहीं किया है. वहीं याचिका कर्ता ने अपनी याचिका में कहा है कि प्राधिकरण को पर्यावरण की अनुमति 25.01.2011 को दी गई है. ऐसी अनुमति पर आपत्ति नहीं की जा सकती है. अतः याचिका कर्ता का आवेदन मूलतः खारिज किया जाता है.
उल्लेखनीय है कि राजेन्द्र शंकर शुक्ला एवं अन्य ने रायपुर विकास प्राधिकरण की कमल विहार योजना के निर्माण के संबंध में सक्षम प्राधिकारी से पर्यावरणीय अनुमति लेने तक भूमि पर विकास कार्य करने पर रोक लगाने व भूखंडों के विक्रय पर रोक लगाने की मांग की थी. जिसे माननीय नेशनल ग्रीन ट्रॉयब्यूनल ने सुनवाई के बाद गत 27 जुलाई को खारिज कर दिया.

Jul 23, 2018

कमल विहार के बैंक ऋण का भुगतान करने नया प्रस्ताव बनाएगा आरडीए

किस्तों में राशि जमा नहीं करने वालों के प्लॉट होंगे निरस्त
बकाया वसूली हेतु टीम का गठन, बकायादारों का नाम समाचार पत्रों में प्रकाशित होगा

रायपुर, 23 जुलाई 2018, कमल विहार योजना के विकास और निर्माण हेतु लिए गए बैक के ऋण व ब्याज राशि के अदायगी के लिए रायपुर विकास प्राधिकरण बैंक को नया प्रस्ताव देगा. प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार चार्टेड एकाऊन्ट फर्म इस संबंध में बैंक ऋण के दीर्घकालीन अवधि में राशि भुगतान करने का प्रस्ताव तैयार करेगी. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने एक समीक्षा बैठक के दौरान उक्त निर्देश दिए. इस बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह, अतिरिक्त सीईओ श्री एस. आर. दीवान व मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया सहित विभिन्न शाखाओं के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे.
प्राधिकरण कार्यालय में अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव व्दारा गत शुक्रवार को आयोजित समीक्षा बैठक में जानकारी दी गई कि कमल विहार में एलएंडटी व्दारा बचे हुए विकास कार्यो को समय सीमा में पूरा कराया जाने के निर्देश दिए गए हैं. कमल विहार के अन्य सेक्टरों में शेष विकास कार्य के लिए 10 दिनों में नए ठेकेदारों व्दारा कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा तथा विद्युत कनेक्शन का कार्य 31 जुलाई 2018 तक पूरा किया जाएगा. कमल विहार योजना में जिन लोगों को भूखंड आवंटित किए गए हे और उनके व्दारा राशि का भुगतान नहीं किया गया है फलस्वरुप काफी बड़ी राशि बकाया हो गई है. इसीलिए ऐसी वसूली हेतु प्राधिकरण व्दारा वसूली टीम का गठन कर वसूली कार्रवाई की जाए तथा बकायादारों के नाम समाचार पत्रों में भी प्रकाशित किया जाए. बकायादारों व्दारा राशि जमा नहीं करने पर प्लॉट का आवंटन निरस्त कर दिया जाए. कमल विहार मे बैंक ऋण की बड़ी राशि को देखते यह निर्णय लिया गया है कि प्लॉट लेकर भी समय से राशि का भुगतान नहीं करने वाले बकायेदारों व्दारा यदि अब भी राशि जमा नहीं की जाती है तो उनका प्लॉट निरस्त करने की कार्रवाई की जाए. बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि कमल विहार योजना में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत जिन फ्लैट्स का पंजीयन किया गया है शीघ्र ही उनकी लॉटरी के माध्यम से फ्लैट्स का आवंटन किया जाएगा.


समीक्षा बैठक में इन्द्रप्रस्थ रायपुरा फेज में अधोसंरचना विकास 30 सितंबर 2018 तक कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिए गए. विक्रय किए गए विकसित भूखंडों की किस्तों की वसूली कार्य में तेजी लाई जाए. प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बन रहे एलआईजी व ईडब्लूएस फ्लैट्स का निर्माण भी निर्धारित समयावधि में पूर्ण किया जाए. 

Jun 25, 2018

कमल विहार – बोरियाखुर्द में नए ईडब्लूएस, एलआईजी फ्लैट्स व स्वतंत्र मकानों की बुकिंग प्रारंभ


      रायपुर, 25 जून 2018,  रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनने वाले नए ईडब्लूएस, एलआईजी फ्लैट्स और स्वतंत्र मकान की बुकिंग प्रारंभ कर दी गई है. रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धनदास खंडेलवाल, श्री रमेश सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह, अतिरिक्त सीईओ श्री एस.आर.दीवान, मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया की उपस्थिति में पंजीयन किए जाने वाली जानकारी विवरणिका (ब्रौशर) का विमोचन किया गया. प्राधिकरण व्दारा वर्तमान में कुल 2733 आवास गृहों के पंजीयन के लिए आवेदन पत्र, नियम एवं शर्ते कैश काऊन्टर में रुपए 5 सौ रुपए दे कर प्राप्त किया जा सकता है.  
प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने बताया कि बुकिंग का आधार पर निर्माण कार्य किया जाएगा. कार्य बेहतर गुणवता से किया जाएगा. उन्होंने कहा कि 2733 फ्लैट्स के पंजीयन के बाद अन्य प्रस्तावित आवास गृहों में कमल विहार के सेक्टर 2 में 2बीएचके के 128 एलआईजी फ्लैट्स, 3बीएचके के 480 फ्लैट्स, सेक्टर 10 में 2बीएचके के 352 एलआईजी फ्लैट्स व 3बीएचके के 256 फ्लैट्स, सेक्टर 11बी में 768 ईडब्लूएस फ्लैट्स, कमल विहार में 175 स्वतंत्र मकान तथा बोरियाखुर्द योजना में 574 स्वतंत्र मकान का पंजीयन किया जाएगा. कमल विहार में 175 स्वतंत्र मकान के निर्माण हेतु पंजीयन होगा. इन स्वतंत्र ईडब्लूएस मकानों में प्लॉट का क्षेत्रफल 596.45 वर्गफुट व कारपेट एरिया 322.21 वर्गफुट होगा तथा इसकी कीमत 8.60 लाख रुपए होगी. प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत होने के कारण इस पर केन्द्रीय अनुदान के रुप में 1.50 लाख का प्रावधान है.
प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना के सेक्टर 1 में 3बीएचके के 416 एलआईजी  और 2बीएचके के 128 ईडब्लूएस फ्लैट्स का निर्माण प्रारंभ किया जाना प्रस्तावित है. सेक्टर 14बी व 15सी में 3बीएचके के 192 LIG फ्लैट्स का निर्माण निकट भविष्य में प्रस्तावित है. इसके अतिरिक्त प्रस्तावित फ्लैट्स में सेक्टर 8ए में 2बीएचके के 320 एलआईजी1 व 3बीएचके के 160 एलआईजी2 फ्लैट्स, सेक्टर 8बी में 3बीएचके के 128 एलआईजी2 फ्लैट्स भी शामिल हैं. बोरियाखुर्द योजना में भी 2बीएचके के 192 एलआईजी फ्लैट्स को मिला कर इस प्रकार से प्रस्तावित फ्लैट्स में कुल 1536 फ्लैट्स का और निर्माण किया जाएगा जिसके पंजीयन की सूचना भी आने वाले दिनों में जारी की जाएगी. इस तरह से छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कुल 4269 आवास गृह उपलब्ध हो सकेंगे. फ्लैट्स की कीमत 5.38 लाख रुपए से 10.97 लाख रुपए है. 

Jun 21, 2018

बोरियाखुर्द - कमल विहार में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत फ्लैट्स स्वतंत्र ईडब्लूएस मकानों के 3983 आवास गृहोे का होगा निर्माण

 ट्रांसपोर्ट नगर में व्यासाय के लिए मिलेगें छोटे प्लॉट
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के प्लाटों पर 9 प्रतिशत की छूट
कमल विहार – इन्द्रप्रस्थ रायपुरा का रेरा में पंजीयन


 रायपुर, 21 जून 2018. रायपुर विकास प्राधिकरण प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कमल विहार योजना के विभिन्न सेक्टरों में ईडब्लूएस, एलआईजी फ्लैट्स,स्वतंत्र ईडब्लूएस मकानों सहित कुल 3983 आवास गृहों का निर्माण 339.10 करोड़ रुपए की लागत से करेगा. बोरियाखुर्द में भी 574 स्वतंत्र ईडब्लूएस मकानों का निर्माण 33 करोड़ रुपए की लागत से किया जाएगा. सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के आधार पर कमल विहार के लेआऊट में संशोधन होगा. इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के विकसित प्लॉटों पर प्रो रेटा आधार पर 9 प्रतिशत वार्षिक की दर से छूट तथा कमल विहार के अपूर्ण सेक्टरों के आवंटितियों को राशि जमा करने के लिए 15 सितंबर तक का समय दिया जाएगा. रावांभाठा ट्रांसपोर्ट नगर में व्यवसाय के लिए छोटे प्लॉट काटे जाएंगे. साथ ही कमल विहार के सेक्टर-1 में शेष बचे विकास कार्य को तेजी से करने के लिए प्राधिकरण ने एक नई एजेंसी को नियुक्ति की है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव की अध्यक्षता में हुई आज एक बैठक में संचालक मंडल ने जनहित में कई फैसले लिए. बैठक में संचालक मंडल के सदस्य सचिव और प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह ने प्रस्ताव प्रस्तुत किए.

 प्रधानमंत्री आवास योजना : प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कमल विहार में 2 बीएचके की सुविधा वाले 1280 ईडब्लूएस फ्लैट्स, 2 बीएचके की सुविधा वाले के 800 एलआईजी2 फ्लैट्स तथा 3 बीएचके की सुविधा वाले 1728 एलआईजी3 फ्लैट्स तथा 175 रोहाऊस ईडब्लूएस मकान के निर्माण के प्रस्ताव के अंतर्गत कुल 3983 आवास हेतु 339.10 करोड़ रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति संचालक मंडल व्दारा दी गई जिसमें पूर्व में 2192 ईडब्लूएस व एलआईजी2 फ्लैट्स के लिए दी गई 177.39 करोड़ रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति शामिल है. प्राधिकरण संचालक मंडल ने बोरियाखुर्द में प्रस्तावित 574 स्वतंत्र ईडब्लूएस मकान निर्माण का कार्य अहमदाबाद की फर्म मेसर्स आशीष इन्फ्रॉकॉन प्रा. लिमिटेड को दिया गया है. फर्म व्दारा 33 करोड़ रुपए की लागत से स्वतंत्र ईडब्लूएस मकानों निर्माण किया जाएगा. कमल विहार के सेक्टर 7ए में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनने वाले 3 बीएचके वाले 96 फ्लैट्स का निर्माण जिसकी लागत 8.21 करोड़ रुपए है, यह कार्य राजनांदगांव की निर्माण एजेंसी मेसर्स वीटीपी कंसल्टेंट को दिया गया है. संचालक मंडल को बैठक में बताया गया कि सेक्टर 11बी में प्रस्तावित 3 बीएचके फ्लैट्स निर्माण स्थल को भूमि के न्यायालीन विवाद के कारण सेक्टर 10 में स्थानांतरित किया गया है.

 इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के प्लाटों पर 9% की छूट : संचालक मंडल ने कमल विहार के अधोसंरचना के तर्ज पर विकसित की गई इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के विकसित प्लाटों के विक्रय में तेजी लाने के लिए वित्तीय सलाहकार व्दारा दिए गए प्रस्ताव के आधार पर अब विक्रय किए जाने वाले प्लॉटों पर प्रो रेटा आधार पर 9 प्रतिशत वार्षिक की दर से छूट देने का निर्णय लिया है. इसके अंतर्गत योजना में आवासीय प्लाटों के साथ व्यवासायिक प्लॉट भी विक्रय के लिए उपलब्ध हैं.

 कमल विहार के लेआऊट में होगा संशोधन : संचालक मंडल ने सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के आधार पर कमल विहार के लेआऊट में संशोधन करने के लिए कुछ सेक्टरों में भूखंड को छोटा करने व परिवर्तन इत्यादि करने की सहमति व्यक्त की. प्राधिकरण व्दारा संशोधित लेआऊट अनुमोदन के लिए अब नगर तथा ग्राम निवेश रायपुर को भेजा जाएगा. 
कमल विहार के अपूर्ण सेक्टरों के आवंटितियों को राशि जमा करने 15 सितंबर तक समय : संचालक मंडल ने कमल विहार सेक्टर 1 व सेक्टर 11बी के आवंटितियों को क्षेत्र में विकास कार्य पूरा नहीं होने के कारण उनके अनुरोध पर बकाया किस्तों का भुगतान करने पर उस पर बिना ब्याज लिए राशि जमा करने हेतु 15 सितम्बर तक का समय प्रदान किया है.


 कमल विहार के विकास कार्यों के लिए नई निर्माण एजेंसियां नियुक्त : कमल विहार के 15 सेक्टरों में अधिकांश का विकास हो चुका है. कुछ सेक्टरों का विकास कार्य शेष है. इनमें सबसे बड़े सेक्टरों में से एक, सेक्टर 1 में शेष बचे हुए कार्यों के लिए निर्माण एजेंसी हिन्द हिमकॉन एसोसियेट को नियुक्त किया गया है जो 49.99 करोड़ रुपए की लागत से विकास और निर्माण कार्य को पूरा करेगी. सेक्टर 1 में विकास कार्य शीघ्रता से किए जाने के लिए आवंटितियों व्दारा लगातार मांग की जा रही थी. इसके अतिरिक्त कमल विहार के सेक्टर 11 बी के विकास और निर्माण कार्य हेतु न्यूनतम निविदादाता मेसर्स हिन्द हिमकॉन एसोसियेट को निगोसियेशन के उपरांत 21.98 करोड रुपए का कार्य आवंटित किया गया है. इसी तरह मेसर्स हिन्द हिमकॉन को कमल विहार के सेक्टर 14 बी व 15 सी के विकास और निर्माण कार्य जिसकी लागत 6.49 करोड़ होगी का कार्य दिया गया है. इस क्षेत्र का कार्य पहले लार्सन एंड टूब्रों व्दारा किया जा रहा था.

 ट्रांसपोर्टनगर रावांभाठा में कटेगें छोटे प्लॉट : ट्रांसपोर्टनगर रावांभाठा में बड़े आकार के प्लाटों को अब छोटा कर विक्रय किया जाएगा. इस संबंध में संचालक मंडल में रखे गए प्रस्ताव में यह जानकारी दी गई कि योजना में दो बड़े आकार के भूखंड जो क्रमशः 2 एकड़ व 5.70 एकड़ आकार के फ्यूचर क्सटेंशन हेतु आरक्षित रखे गए थे. जिसमें से 2 एकड़ के बड़े भूखंड में 64 भूखंड काटे गए थे इसमें 51 भूखंडो का विक्रय गत दिनों किया गया है. इसी प्रकार अब 5.70 एकड़ के बड़े भूखंड को छोटे आकार के भूखंडों में विभाजित कर विक्रय किया जाना है. इस हेतु लेआऊट में संशोधन के लिए संयुक्त संचालक नगर तथा ग्राम निवेश को प्रस्ताव अनुमोदन के लिए भेजा जाना है. इस प्रस्ताव को भी संचालक मंडल ने आज अपनी स्वीकृति प्रदान की.

 रेरा में कमल विहार और इन्द्रप्रस्थ रायपुरा का पंजीयन : संचालक मंडल की बैठक में सभी सदस्यों को अवगत कराया गया कि प्राधिकरण की नई योजनाओं कमल विहार और इन्द्रप्रस्थ रायपुरा योजना का छत्तीसगढ़ भू-संपदा नियम 2017 (रेरा) के अंतर्गत पंजीयन कराया गया है.
 संचालक मंडल की इस बैठक में अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धनदास खंडेलवाल व श्री रमेश सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह, अतिरिक्त सीईओ श्री एस.आर. दीवान, संचालक मंडल के अशासकीय सदस्य श्री गोपी साहू, श्री नारद कौशल, श्री रविन्द्र बंजारे, श्रीमती सुनयना शुक्ला, श्रीमती एम लक्ष्मी शासकीय सदस्यों में वित्त विभाग के अतिरिक्त सचिव श्री सतीश पांडेय, आवास एवं पर्यावरण विभाग के अवर सचिव श्री जी.एल. साकला, नगर तथा ग्राम निवेश रायपुर के संयुक्त संचालक श्री विनीत नायर, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री आर.के. चौबे, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) श्री संदीप अग्रवाल, वन विभाग के अनुविभागीय अधिकारी श्री सुबीर तिवारी, लोक निर्माण विभाग के उप अभियंता क्षी जे.पी. चन्द्रसेन उपस्थित थे.

विश्व योग दिवस पर आरडीए में हुआ योग और हॉस्य योग

हजारों वर्षों से भारत में प्रचलित योग को प्रधानमंत्री 
श्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व स्तर पर लोकप्रियता दिलाई
 

रायपुर 21 जून 2018, विश्व योग दिवस पर रायपुर विकास प्राधिकरण कार्यालय भवन में आज अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह के साथ योग की क्रियाएं की. योग प्रशिक्षक श्री विक्रम साहू, कुमारी सीमा साहू व कुमारी नीता साहू ने लगभग एक घंटे योग क्रियाओं का अभ्यास कराया. जिनका सत्र के अंत में श्रीफल और शाल देकर अभिनंदन किया गया. सत्र के अंत में  हास्य योग (लॉफ्टर योगा) भी किया गया.

इस अवसर पर प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारत में हजारो वर्षो से प्रचलित योग को विश्व स्तर लोकप्रियता दिलाई. इसका श्रेय देश की जनता को भी जाता है. उन्होंने कहा कि योग हमारे मन मस्तिष्क को जोड़ता है. यह हमारे शारीरिक तथा मानसिक समस्याओं से निजात पाने का भी एक विकल्प है. आज के योग सत्र में प्राधिकरण के मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया, संचालक सदस्य श्री गोपी साहू, श्रीमती एम.लक्ष्मी सहित प्राधिकरण के कई अधिकारियों और कर्मचारियों ने भाग लिया. 



 





Jun 6, 2018

आरडीए के नए सीईओ ने कई योजनाओं का निरीक्षण किया



रायपुर 6 जून 2018, रायपुर विकास प्राधिकरण के नए मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिजीत सिंह ने आज प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं का वृहत दौरा कर स्थल में हो रहे विकास और निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लिया. मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया ने इस दौरान विकास कार्यो की जानकारी दी. श्री सिंह सबसे पहले ट्रांसपोर्टनगर रावांभाठा गए वहां उन्हें अधिकारियों ने बताया कि ट्रांसपोर्ट नगर योजना बीरगांव नगर पालिक निगम को हस्तांतरित करने की प्रक्रिया चल रही है. इसके बाद उन्होंने शैलेन्द्रनगर योजना के प्रथम तल पर निर्माणाधीन दुकानों का अवलोकन किया. आरडीए के सीईओ ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बोरियाखुर्द में निर्माणाधीन एलआईजी फ्लैट्स व दुकानों, कमल विहार में निर्माणाधीन ईडब्लूएस व एलआईजी फ्लैट्स तथा डुप्लेक्स भवनों का भी निरीक्षण किया. इस अवसर पर प्राधिकरण के अधीक्षण अभियंता श्री अनवर खान, कार्यपालन अभियंता श्री अनिल गुप्ता, श्री प्रमोद बैस, श्री सुरेश कुंजाम सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित थे. 





May 28, 2018

आरडीए के नए सीईओ श्री अभिजीत सिंह ने कार्यभार संभाला


रायपुर 28 मई 2018, छत्तीसगढ़ शासन के आदेश के बाद आज कृषि विपणन मंडी बोर्ड में मैनेजिंग डायरेक्टर श्री अभिजीत सिंह ने रायपुर विकास प्राधिकरण में मुख्य कार्यपालन अधिकारी का अतिरिक्त कार्यभार संभाल लिया. उन्होंने प्राधिकरण के प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.आर. दीवान से कार्यभार ग्रहण किया. वे भारतीय प्रशासनिक सेवा के छत्तीसगढ़ कैडर 2012 बैच के अधिकारी हैं. प्राधिकरण के उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धन दास खंडेलवाल और श्री रमेश सिंह ठाकुर ने भी आज नए सीईओ से कार्यालय में मुलाकात कर प्राधिकरण के विकास और निर्माण कार्यों पर चर्चा की.

कार्यभार संभालने के बाद आज प्रातः श्री सिंह ने रायपुर विकास प्राधिकरण के कार्यो की संक्षिप्त जानकारी ली और फिर कमल विहार और इन्द्रप्रस्थ योजना का दौरा किया. इन्दप्रस्थ रायपुरा में उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत निर्माणाधीन ईडब्लूएस और एलआईजी फ्लैट्स का निरीक्षण किया. इस अवसर पर प्राधिकरण के मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया भी उनके साथ थे. 

May 3, 2018

न्यू राजेन्द्रनगर में उद्यान और कांक्रीट सड़क का भूमिपूजन हुआ


रायपुर, 03 मई 2018, न्यू राजेन्द्रनगर के दीपक कालोनी में आज रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा उद्यान और कांक्रीट सड़क निर्माण का भूमि पूजन किया गया. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धनदास खंडेलवाल व श्री रमेश ठाकुर, संचालक मंडल के सदस्य श्री गोपी साहू व श्री रविन्द्र बंजारे ने नारियल तोड़ कर नए कार्य की शुरुआत की. इस कार्य के अंतर्गत दीपक नगर कालोनी के जनता मकान क्रमांक 345 के सामने एक उद्यान का विकास 2.70 लाख की लागत से किया जाएगा. इसी क्षेत्र में एक कांक्रीट रोड का निर्माण भी किया जाएगा.
📌 इस अवसर पर रानी दुर्गावती वार्ड के पार्षद श्री लीलाधर चन्द्राकर, एल्डरमैन श्री विवेक वर्धन, पूर्व पार्षद श्री पंकज निर्मलकर, रविन्द्र सिंग ठाकुर, तोषण साहू, संजय शाहा, सुनील बतरा, सुनील आनदानी, शुभाषीश मुखर्जी, विनद बुधवानी, एन.के. लालवानी, स्वरूप टाटिया, विजय सोनी,परमजीत सिद्धू, गुरदीप सिंह टुटेजा और वार्ड की कई नागरिक सहित प्राधिकरण के कार्यपालन अभियंता श्री प्रमोद बैस, सहायक अभियंता श्री आर.के.जैन व श्री एम.एस.पांडेय भी उपस्थित थे.

May 1, 2018

मई दिवस पर पहली बार आरडीए के 13 मजदूर कर्मचारी सम्मानित

मजदूरों के श्रम का सम्मान होना ही चाहिए – श्री संजय श्रीवास्तव

रायपुर, 01 मई 2018, रायपुर विकास प्राधिकरण में आज पहली बार मजदूर कर्मचारियों को मई दिवस के अवसर पर सम्मानित किया गया. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने प्राधिकरण के 13 महिला एवं पुरुष मजदूर कर्मचारियों को अपने कक्ष मे सम्मानित किया. इस अवसर पर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि विकास और निर्माण में मजदूरों का काफी महत्व है. वे अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ ही दिए गए कार्य को अपना खून पसीना बहाकर पूरा करते हैं. उनके श्रम का सम्मान होना ही चाहिए. 
मजदूर कर्मचारियों को सम्मानित करने के इस विशेष मौके पर प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.आर. दीवान, मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया, संचालक मंडल के सदस्य श्री गोपी साहू ने मजदूर कर्मचारियों में श्री बाबूलाल यादव, बिसेलाल यादव, शत्रुघन साहू, लीला साहू, श्रीमती पंच बाई, श्रीमती राम बाई, श्रीमती नेम बाई, श्रीमती पुष्पा बाई, श्रीमती चंपा बाई, श्रीमती महेशी बाई, श्रीमती ठगिया बाई, कीर्तन राम और अमर सिंह को उनकी रायपुर विकास प्राधिकरण में दी जा रही सेवाओं क लिए श्रीफल और शाल दे कर सम्मानित किया गया. इस अवसर पर प्राधिकरण कर्मचारी संघ के अध्यक्ष श्री राजकुमार अवस्थी ने मजदूर दिवस को रेखांकित करते हुए कहा कि सन् 1835 में मजदूरों के हक की लड़ाई की शुरुआत हुई थी. जिसमें मजदूरों के कार्य के घंटों का निर्धारण किए जाने की मांग उठी. फलस्वरुप हर नियोक्ता से 8 घंटे तक कार्य, 8 घंटे निजी जीवन और 8 घंटे सामाजिक कार्यों में देने की मांग की गई. प्राधिकरण के मजदूर कर्मचारियो ने आज सम्मानित होने पर अपनी खुशी जाहिर की और कहा कि हम पूरी निष्ठा से अपनी संस्था के लिए बरसों से कार्य करते रहें है जिसका आज हमे सम्मान मिला है. 


Apr 26, 2018

मठपुरैना में आरडीए के आवंटित प्लाटों में काबिजों व्दारा अपने नाम पर रजिस्ट्री की मांग

स्थल निरीक्षण - परीक्षण कर लिया जाएगा निर्णय – श्री संजय श्रीवास्तव

▶ रायपुर, 26 अप्रैल 2018, मठपुरैना में रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा 1985 में आवंटित प्लाटों पर वर्तमान में काबिज लोगों व्दारा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव से मुलाकात कर प्लाट को अपने नाम पर रजिस्ट्री करने का आग्रह किया. वार्ड के पार्षद श्री समीर अख्तर के नेतृत्व में प्राधिकरण कार्यालय मिलने आए मठपुरैना के निवासियों ने श्री श्रीवास्तव से कहा जिस तरह से प्राधिकरण ने गत दिनों न्यू राजेन्द्रनगर के जनता मकानों के वर्तमान निवासियों के नाम पर रजिस्ट्री करने का फैसला लिया है उसी प्रकार की सुविधा उन्हें भी दी जाए.

▶ आरडीए के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने प्रतिनिधि मंडल से आज चर्चा के दौरान आश्वस्त किया कि प्राधिकरण व्दारा इस दिशा में सकारात्मक पहल की जाएगी. पहले वे स्थल का दौरा करके वास्तविक स्थितियों का आंकलन करेंगे. इसके बाद प्राधिकरण व्दारा काबिज लोगों के दस्तावेजों का परीक्षण किया जाएगा. दस्तावेज सही पाए जाने पर प्लाटों की रजिस्ट्री वर्तमान काबिज लोगों के नाम पर करने के संबंध में प्राधिकरण व्दारा निर्णय लिया जाएगा. उल्लेखनीय है कि प्राधिकरण ने 1985 में निम्न आय वर्ग को 450 वर्गफुट के लगभग 400 आवासीय प्लाट मासिक किस्तों में आवंटित किए थे ताकि वे इस पर अपना घर बना सकें. वर्तमान में कई लोग वहां अपना मकान बना कर रह रहे हैं. इनमें से कई लोगों ने ऐसे लोगों से मकान खरीदा जो मासिक किस्त जमा कर रहे थे फिर उनकों पैसों की जरूरत होने के कारण उन्होंने अपना प्लॉट किसी दूसरे को बेच दिया और अब वे कहां है इसकी कोई जानकारी नहीं है. वर्तमान में काबिज लोगों ने इसकी राशि जमा कराई है और वे अब पुराने भूखंडधारी से संपर्क कर रहें है पर उनके संबंध में कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है. पार्षद श्री समीर अख्तर का कहना था कि चूंकि वर्तमान में यहां रह रहे लोग स्वयं कई सालों से काबिज है और मूल आवंटितियों ने भी इसे विक्रय कर दिया और वे संपर्क में नहीं है इसीलिए जनता मकान का कब्जा होने के कारण मकान उनके नाम पर रजिस्ट्री की जाए.

Apr 23, 2018

कमल विहार के प्लाटों पर 15% तक की छूट 25 अप्रैल तक

30 दिनों में पूरी राशि देने पर 0.75% की अतिरिक्त छूट
रायपुर, 23 अप्रैल 2018, रायपुर विकास प्राधिकरण की कमल विहार योजना के प्लाटों में दी जाने वाली अधिकतम छूट 15 प्रतिशत 25 अप्रैल तक ही प्राप्त होगी. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धन दास खंडेलवाल व श्री रमेश सिंह ठाकुर ने पिछले महीने प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार व्दारा गत दिनों प्रस्तुत बिजनेस मॉडल के आधार पर यह निर्णय लिया था कि छूट 25 अप्रैल तक ही दी जाएगी.
प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.आर. दीवान ने बताया कि बिजनेस के प्लाटों के अतंर्गत स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल, मिश्रित, सार्वजनिक व अर्ध्द सार्वजनिक उपयोग के भूखंड, स्वास्थ्य व शैक्षणिक उपयोग के भूखंडों पर अब 15 प्रतिशत तक की छूट दी जा रही है. वहीं आवासीय भूखंडों पर 2 प्रतिशत से 15 प्रतिशत तक की छूट दी जा रही है. यह छूट 60 दिनों में पूरी राशि जमा करने पर ही मिल रही है.  यदि राशि 60 दिनों के बदले 30 दिनों में पूरी जमा की जाती है तो आवंटिती को 0.75 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट का लाभ दिया जा रहा है .   
आरडीए के सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट 27 अप्रैल तक

रायपुर 23 अप्रैल 2018, रायपुर विकास प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं में भूखंड, भवन व अन्य बकायादारों व्दारा एक मुश्त राशि जमा करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट जारी है. यह छूट 27 अप्रैल 2018 तक मिलेगी. प्राधिकरण के प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस. आर. दीवान के अनुसार आवंटितियों से लगभग 20 करोड़ रुपए की बकाया राशि की वसूली के लिए बकायादारों को एकमुश्त राशि जमा करने पर सरचार्ज में 50 प्रतिशत की सीधी छूट दी जा रही है. इसकी अंतिम तिथि 27 अप्रैल 2018 तक है.

🔴 बिना अनुमति प्रधानमंत्री आवास योजना फ्लैट्स की बुकिंग करने पर आरडीए के प्रापर्टी एजेंट महेश आर्या की नियुक्ति रद्द

रायपुर, 23 अप्रैल 2018, रायपुर विकास प्राधिकरण प्रशासन ने संपत्तियों के विक्रय के लिए नियुक्त किए गए विक्रय अभिकर्ता महेश कुमार आर्या की नियुक्ति को रद्द कर दिया है.
प्राधिकरण के प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.आर. दीवान ने बताया कि प्राधिकरण की संपत्तियों के विक्रय के लिए नियुक्त अभिकर्ता जो रेरा में भी एजेन्ट हैं व्दारा प्राधिकरण की कमल विहार, इन्द्रपस्थ रायपुरा व बोरियाखुर्द में निर्माणाधीन व प्रस्तावित प्रधानमंत्री आवास योजना के एलआईजी व ईडब्लूएस फ्लैट्स हेतु अनाधिकृत रुप से पंजीयन की बुकिंग की जा रही थी. विक्रय अभिकर्ता के संबंध मे कुछ दिनों से लगातार शिकायतें भी आ रही थी कि वे बिना प्राधिकरण की स्वीकृति के स्वयं हो कर प्रधानमंत्री आवास योजना के फ्लैट्स की बुकिंग कर रहे हैं. जबकि प्राधिकरण व्दारा फ्लैट्स बुकिंग सीधे कार्यालय में ही की जा रही थी. प्राधिकरण ने फ्लैट्स बुकिंग के लिए किसी भी एजेन्ट को अधिकृत नही किया है. विक्रय अभिकर्ताओं को सिर्फ प्लाट विक्रय करने के लिए नियुक्त किया गया है. महेश आर्या का यह कृत्य विक्रय अभिकर्ता नियुक्ति के अनुबंध दिनांक 21.03.2018 का स्पष्ट उल्लंघन था. इसलिए प्राधिकरण व्दारा विक्रय अभिकर्ता की नियुक्त एवं निष्पादित अनुबंध निरस्त कर दिया गया है. वे इसके बाद से महेश आर्या रायपुर विकास प्राधिकरण की किसी भी संपत्ति के विक्रय संबंधी कार्य नहीं कर सकेंगे.