Search This Blog

Nov 10, 2017

आरडीए की सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट शुरु

आवासीय संपत्तियों में एक मुश्त भुगतान करने पर ही मिलेगी छूट

रायपुर, 10 नवंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण के संचालक मंडल के निर्णय के बाद प्राधिकरण ने अपनी समस्त योजनाओं में आवासीय संपत्तियों में एकमुश्त बकाया राशि जमा करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट देना शुरु कर दिया है. प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि गत अगस्त में भी प्राधिकरण व्दारा सरचार्ज राशि में 30 प्रतिशत की छूट दी थी जिसके फलस्वरुप बकायादारों ने छूट का लाभ लेते हुए राशि जमा की थी. उन्होंने बताया कि प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में वर्तमान में कुल 14373 हितग्राही है जिसमें 11,184 आवासीय हितग्राही आवंटिती हैं, जिनसे प्राधिकरण को किश्त किराया, भूभाटक, वाटर चार्जेस, मेंटेनेन्स चार्ज आदि के मद में राजस्व की प्राप्ति होती है. श्री कावरे ने बताया कि सरचार्ज में छूट देने से आवंटिति राशि की बचत को देखते हुए अधिक से अधिक राशि जमा करते हैं. इसलिए प्राधिकरण व्दारा यह छूट दी जा रही है. 

Nov 8, 2017

कमल विहार एलआईजी 2 के आवेदन अब 15 तक

ईड्ब्लूएस व एलआईजी 1 के आवेदन 30 नवंबर तक जमा होंगे

रायपुर, 8 नवंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा कमल विहार में 3 बीएचके फ्लैट्स एलआईजी 2 के आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि बढ़ा कर 15 नवंबर 2017 कर दी गई है. इसी प्रकार ईडब्लूएस व एलआईजी 1 के आवेदन 30 नवंबर तक लिए जा सकेंगे.
  प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि कमल विहार में एलआईजी 2 का कारपेट एरिया 645 वर्गफुट है व कीमत लगभग साढ़े 10 लाख रुपए है. जबकि दो बीएचके के ईडब्लूएस का कारपेट एरिया 322 वर्गफुट व कीमत 5 लाख है. वहीं दो बीएचके के एलआईजी 1 फ्लैट्स का कारपेट एरिया 586 वर्गफुट व कीमत लगभग 8 लाख रुपए है. उन्होंने कहा कि आवेदकों की लगातार मांग पर प्राधिकरण की आवेदन पत्र जमा करने की तिथि आगे बढ़ाई गई है.

Nov 3, 2017

रायपुर संचालक मंडल के फैसले



नजूल व शासकीय भूमि पर लगने वाला 6 -1/2% भूभाटक अब नाम मात्र होगा  
रायपुर विकास प्राधिकरण के संचालक मंडल की बैठक में राज्य शासन व्दारा छत्तीसगढ़ नगर तथा ग्राम निवेश विकसित भूमियों,गृहों, भवनों तथा अन्य संरचानाओं का व्ययन नियम 1975 के नियम 47 में किए गए संशोधन की जानकारी प्रस्तुत की गई. श्री कावरे ने बताया कि इस संशोधन के फलस्वरुप शासकीय व नजूल भूमि पर लगने वाले साढ़े 6 प्रतिशत भूभाटक के कारण प्राधिकरण के विकसित भूखंड नहीं बिक पा रहे थे क्योंकि उनमें भूभाटक की राशि काफी अधिक यानि लाखों में हो जाती थी. उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि राज्य शासन व्दारा किए गए संशोधन के बाद अब यदि रावांभाठा ट्रांसपोर्ट नगर में 4800 वर्गफुट के विकसित प्लॉट में भूभाटक 23 पैसा प्रति वर्गफुट लगेगा, जिससे देय भूभाटक की राशि रुपए 1,104 रुपए होगी. पूर्व में यही भूभाटक साढ़े 6 प्रतिशत की दर से 5 लाख 79 हजार 72 रुपए होता था. इस कारण संपत्ति नहीं बिक रही थी. इस संशोधन के बाद प्राधिकरण की कई ऐसी प्रापर्टी का विक्रय करना अब आसान हो जाएगा.
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में पुलिस चौकी
गत 23 जुलाई 2017 को दिनों आवास एवं पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत के इन्द्रप्रस्थ दौरे निवासियों ने सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस चौकी खोले जाने कि मांग की थी. इस संदर्भ में प्राधिकरण के संचालक मंडल ने इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में के योजना क्षेत्र में 1000 वर्गफुट भूमि मानचित्र में अंकित कर पुलिस अधीक्षक को भेजे गए पत्र को कार्येत्तर स्वीकृति प्रदान की. इस प्रक्रिया से अब इन्दप्रस्थ रायपुरा में पुलिस चौकी शीघ्र ही खोले जाने का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है किन्तु भूमि स्वामित्व रायपुर विकास प्राधिकरण का होगा.

फ्लैट्स के पंजीयन राशि नियमानुसार वापस होगी 
आरडीए के संचालक मंडल के समक्ष रखे गए प्रस्ताव कि फ्लैट्स के लिए आवेदन देने वालों में कुछ आवेदक पंजीयन कराने के कराने के बाद किसी न किसी कारण से पंजीयन राशि वापस करने की मांग करते हैं. इससे जहां फ्लैट के विक्रय में परेशानी होती है वहीं कार्यालयीन कार्य भी प्रभावित होता है. इस पर निर्णय लिया गया कि पंजीयनकर्ता व्दारा पंजीयन राशि वापस मांगने पर उन्हें पंजीयन की शर्त के अनुसार ही कटौती कर राशि वापस की जाए.
कमल विहार के प्लॉटों पर छूट की अवधि बढ़ी, 30 दिसंबर तक मिलेगा छूट का लाभ
संचालक मंडल ने कमल विहार योजना में गत 21 सितंबर से 31 अक्टूबर तक विभिन्न प्रकार के प्लॉटों पर दी गई छूट की अवधि को बढ़ा कर 30 दिसंबर 2017 तक करने पर भी अपनी मुहर लगाई. बैठक में इस विषय में चर्चा के दौरान बताया गया कि प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार व्दारा विक्रय किए जा रही संपत्तियों के आंकलन के बाद दिए गए सुझाव पर यह निर्णय लिया गया है. इसके अनुसार प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना में प्लॉट लेने वालों को 2 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक की छूट देगा.
इसके अतंर्गत आवासीय भूखंडों पर 2000 वर्गफुट आकार तक 2 प्रतिशत, 2001 से 3000 वर्गफुट तक 10 प्रतिशत, 3001 से 5000 वर्गफुट आकार के प्लाटों पर 12 प्रतिशत तथा 5001 से अधिक आकार के आवासीय भूखंडों पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी. बिजनेस उपयोग के मिश्रित,पीएसपी, स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल के व्यावसायिक भूखंडों,  पर 25 प्रतिशत, सीबीडी के 5 एकड़ व्यवासायिक क्षेत्र में अलग अलग भूखंड लेने पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. जबकि स्वास्थ्य तथा स्कूल के विकसित भूखंडों पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी.

आवासीय संपत्तियों में एक मुश्त भुगतान करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट    
संचालक मंडल ने प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में आवासीय संपत्तियों में बकाया राशि जमा करने पर एक मुश्त भुगतान करने पर सरचार्ज राशि में 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया है. गत अगस्त में प्राधिकरण व्दारा सरचार्ज राशि में 30 प्रतिशत की छूट दी गई थी. बकाया राशि के संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी.कावरे ने बैठक में बताया कि प्राधिकरण की समस्त योजनाओं में वर्तमान में कुल 14373 हितग्राही है जिसमें 11,184 आवासीय हितग्राही एवं 3189 व्यावसायिक हितग्राही है, जिनसे प्राधिकरण को किश्त किराया, भूभाटक, वाटर चार्जेस, मेंटेनेन्स चार्ज आदि के मद में राजस्व की प्राप्ति होती है. श्री कावरे ने बताया कि प्राधिकरण की न्यून निम्न आय वर्ग की डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी आवास योजनाओं में लगभग 24 करोड़ रुपए का बकाया है. इन मकानों से प्रत्येक माह 69.21 लाख रुपए की राशि किश्तों के मद में प्राप्त होना है. सरचार्ज में छूट देने से हितग्राही अधिक से अधिक राशि जमा करते हैं.

कमल विहार में अवार्ड पारित भूस्वामियों को भूखंडों का आवंटन नहीं   
संचालक मंडल ने एक अन्य प्रस्ताव में यह निर्णय लिया कि कमल विहार में जिन भूस्वामियों को उनकी भूमि के मुआवजे का अवार्ड पारित कर दिया गया है. अब उनको पुर्नगठित भूखंड का आवंटन नहीं किया जाएगा. यदि भूमि स्वामी विकसित भूखंड लेना चाहता है तो उसे सामान्य प्रक्रिया के अंतर्गत भूखंड प्राप्त कर सकता है. अवार्ड पारित मामलों में यदि पुर्नगठित भूखंड आरक्षित है तो उसे विक्रय की सूची में शामिल करने का निर्णय लिया गया.   


रायपुर विकास प्राधिकरण संचालक मंडल की बैठक में अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव के साथ उपाध्यक्षव्दय श्री गोवर्धनदास खंडेलवाल व श्री रमेश सिंह ठाकुर, संचालक मंडल के सदस्य सचिव व मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे, श्री सतीश पांण्डे अवर सचिव वित्त विभाग, श्री जी.एल. सांकला अवर सचिव आवास एवं पर्यावरण विभाग, श्री आर.ए.पाठक अधीक्षण अभियंता छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी, श्री एम. के. गुप्ता संयुक्त संचालक संचालनालय छत्तीसगढ़ नगर तथा ग्राम निवेश, श्री विनीत नायर संयुक्त संचालक, नगर एवं ग्राम निवेश रायपुर, श्री संजय ब्रिजपुरिया कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, श्री सुबीर तिवारी अनुविभागीय अधिकारी वन विभाग, अशासकीय सदसय् श्री गोपी साहू, श्री नारद कौशल, श्री रविन्द्र बंजारे, श्रीमती सुनयना शुक्ला व श्रीमती एम. लक्ष्मी शामिल थे.   

Nov 2, 2017

इन्दप्रस्थ रायपुरा में संचालित वंडरलैंड रिक्रिएशन पार्क का आवंटन निरस्त कर सकता है आरडीए...!

रखरखाव के नाम पर अक्सर बंद रहने से नाराज आरडीए अध्यक्ष

रायपुर 02 नवंबर 2017, रायपुरा में संचालित वंडरलैंड रिक्रिशन पार्क का नियमित रुप से संचालन नहीं होने पर आज रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने पंचामृत कंपनी कोलकाता को नोटिस देने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा भले ही कोलकाता की पंचामृत कंपनी की ओर कोई राशि बकाया नहीं है पर इसका यह मतलब नहीं है कि वह शहर में मनोरंजन के लिए आवंटित भूमि पर स्थापित रिक्रिएशन पार्क को रखरखाव के नाम पर अधिकांश समय तक बंद रखे. वंडरलैंड रिक्रिएशन पार्क लोगों के मनोरंजन के लिए बनाया गया है. कई बार इसकी शिकायतें मिली है जब से यह शुरु हुआ है अधिकांश समय यह बंद रहा है तथा इसके संचालकों ने इस पर ध्यान नहीं दिया है. वंडरलैंड रिक्रिएशन पार्क का नियमित रुप से संचालन होना चाहिए. यहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्वीमिंग पूल भी इसीलिए बनाया गया है ताकि यहां की खेल प्रतिभाओं को राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मौका मिल सके. यदि कंपनी इसका संचालन नहीं कर सकती है तो रायपुर विकास प्राधिकरण उसका आवंटन निरस्त कर दूसरे को आवंटित कर देगा ताकि जनता को मनोरंजन की इस सुविधा का नियमित रुप से लाभ मिल सके.         

ईड्ब्लूएस और एलआईजी की गुणवत्ता और प्रगति बेहतर
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा योजना के स्थल निरीक्षण के दौरान आज आरडीए अध्यक्ष के साथ उपाध्यक्ष श्री
गोवर्धनदास खंडेलवाल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे,अतिरिक्त सीईओ श्री एस.आर. दीवान, अधीक्षण अभियंता श्री अनवर खान भी उपस्थित थे. स्थल निरीक्षण के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत बन रहे 944 एलआईजी और 1472 ईड्ब्लूएस फ्लैट्स के निर्माण का भी अवलोकन किया. कार्य की गुणवत्ता तथा प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए श्री श्रोवास्तव ने इसे समय का ध्यान रखते हुए पूरा किया जाए. इन्द्रप्रस्थ रायपुरा के फेज 2 में विकसित प्लॉट के लिए अधोसंरचना विकास की गति को उन्होंने और बढ़ाने का निर्देश दिया. प्राधिकरण यहां आवासीय के साथ ही व्यावसायिक, व्यवासायिक सह आवासीय, स्वास्थ्य और शैक्षणिक उपयोग के लिए भूखंड विकसित कर रहा जिसका विक्रय भी किया जा रहा है. 

Nov 1, 2017

कमल विहार के 5 सेक्टरों में निर्माण गति धीमी होने के कारण एलएंडटी कंपनी को मिली फटकार

नक्शे के विरुध्द निर्माण से पाईप लाईनों को हुआ नुकसान
विद्युत मंडल से कनेक्शन से एक सप्ताह में लिया जाए

रायपुर 01 नवंबर 2017, कमल विहार में विकसित किए जा रहे 5 सेक्टरों में निर्माण कार्य में देरी करने के कारण अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने निर्माण कंपनी लार्सन एंड टूब्रों के टीम लीडर को आज अच्छी खासी डॉंट पिलाई. कमल विहार के सेक्टर 1, 11ए,11बी,14बी व सेक्टर 15ए में अधोसंरचना विकास का कार्य काफी धीमा चल रहा है इस कारण आरडीए अध्यक्ष ने नाराजगी व्यक्त की. उधर विद्युत सब स्टेशन की स्थापना का कार्य पूर्ण हो चुका है. इसमें अब विद्युत मंडल से कनेक्शन लेने का कार्य बाकी है जिसे एक सप्ताह में पूरा करने का निर्देश दिए गए. श्री श्रीवास्तव ने आज प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री रमेश सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी  श्री एम.डी. कावरे, मुख्य अभियंता श्री जे.एस. भाटिया के साथ योजना का दौरा किया. इस दौरान कमल विहार रेसीडेन्स एसोसियेशनल के सदस्य भी उपस्थित थे.
स्थल निरीक्षण के दौरान आरडीए अध्यक्ष ने यह निर्देश दिया गया कि सेक्टर1 में जहां मकान बन गए हैं वहां विद्युत के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के बदले स्थाई विद्युत कनेक्शन दिए जाने की व्यवस्था की जाए. जिन मकानों के सामने सोलर लाईटें लगी है उन्हें चालू किया जाए. सेक्टर 1 की सड़क को रामकृष्णा अस्पताल की मुख्य सड़क से जोड़ने का कार्य किया जाए. जिन स्थानों पर उद्यान विकसित किया जाना है वहां का लैंड स्केप डिजाईन कर कार्य प्रारंभ किया जाए. सेक्टर 15ए में सीमांकन कार्य करवाया जाए ताकि वहां बचा हुआ अधोसंरचना विकास हो सके. इसी प्रकार अन्य सेक्टरों में अधोसंरचना विकास का कार्य तेजी से किया जाए.

स्थल निरीक्षण के दौरान आरडीए अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कमल विहार रेसीडेंस एसोसियेशन से अपील की कि वे जो व्यक्ति भी योजना में अपने भवन का निर्माण कर रहे हैं उन्हें इस बात के लिए प्रेरित करें कि वे नगर पालिक निगम रायपुर व्दारा स्वीकृत नक्शे के अनुरुप ही भवनों का निर्माण करें. वर्तमान में पाईप लाईनों के उपर भवन निर्माण करने की शिकायत आई है जिसके टूट-फूट की परेशानी हो सकती है. नियम विरुद्ध निर्माण करने से आने वाले समय में सीवर लाईऩ, बिजली व आईटी के केबल जैसी भूमिगत भूमिगत अधोसंरचना को नुकसान पहुंच सकता है. इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए कि भवन निर्माण के दौरान भूमिगत पाईप लाईनों को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचे.

Oct 31, 2017

कमल विहार में प्लाटों पर छूट, और छूट पर छूट की मिली सफलता से आरडीए ने छूट की अवधि 30 दिसंबर तक बढ़ाई

🔴 बैंक को ब्याज देने के बदले खरीददारों को छूट का फायदा दे रहा आरडीए
 
रायपुर 31 अक्टूबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कमल विहार योजना में दी जा रही भारी छूट को बढ़ा कर अब 30 दिसंबर 2017 तक किए जाने की घोषणा की ही. पहले यह छूट 31 अक्टूबर तक थी. छत्तीसगढ़ राज्योत्सव का अवसर और खरीददारों को बैंक के ब्याज का फायदा देने तथा डिस्काऊंट मॉडल को लगातार मिल रही सफलता को कारण कमल विहार में पुनः छूट की घोषणा की गई है.
दरअसल प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने कुछ समय पहले प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार से चर्चा में पाया कि कमल विहार योजना के बैंक से लिए गए ऋण पर मूलधन की राशि की वापसी तथा मूलधन पर ब्याज देने की प्रक्रिया में यदि समय से पहले ही राशि मिल जाए और उसे बैंक को वापस कर दिया जाए तो प्राधिकरण को लगने वाले ब्याज की राशि कम हो जाएगी. ऐसे में यदि राशि आती है तो इसका सीधा लाभ खरीददार को दिया जा सकता है. मतलब यह कि बैंकों को दिए जाने वाले ब्याज राशि का सीधा फायदा खरीददारों को दिया जा सकता है. प्राधिकरण के वित्तीय सलाहकार व्दारा इस सिध्दांत पर काम करते हुए अधिकतम 25 प्रतिशत तक की छूट का डिसकाऊंट मॉडल तैयार किया था जिसे सितंबर में लागू करने के बाद अब फिर से बढ़ा कर 30 दिसंबर 2017 तक कर दिया गया है. उल्लेखनीय है कि गत 21 सितंबर से आज तक प्राधिकरण लगभग साढ़े 15 करोड़ रुपए के प्लाटों की बिक्री कर चुका है. डिसकाऊंट मॉडल के प्रति लोगों की रुचि ने भी अच्छा खासा आकर्षण पैदा किया है.    
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि इस छूट के अंतर्गत 2 से 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. उन्होंने बताया कि 2000 वर्गफुट तक के आवासीय भूखंड पर 2 प्रतिशत, 2001 से 3000 वर्गफुट पर 10 प्रतिशत, 3001 से 5000 वर्गफुट पर 12 प्रतिशत तथा 5001 वर्गफुट से अधिक आकार के विकसित भूखंड पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी. बिजनेस के प्लाटों में स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल, मिश्रित तथा पीएसपी के प्लाटों पर 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. 5 एकड़ के सीबीडी क्षेत्र में बिजनेस प्लॉट अलग – अलग लेने पर  15 प्रतिशत की छूट तथा स्वास्थ्य एवं शैक्षणिक प्लाट पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. इन छूट के अलावा विकसित हो रहे सेक्टर 1,11ए, 11बी, एवं 14 बी सेक्टर में 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट अलग से दी जाएगी. इसका मतलब कि छूट पर भी छूट दी जा  रही है. आवासीय प्लाटों का आवंटन लॉटरी से तथा अन्य सभी प्लॉटों का आवंटन उच्चतम निविदा दर के प्रस्ताव के आधार पर किया जाएगा. छूट की सुविधा तभी मिलेगी जब प्लॉट आवंटन के 60 दिनों के भीतर पूरा राशि का भुगतान किया जाए. आवंटन हर बुघवार को किए जा रहे हैं.  

Oct 23, 2017

कमल विहार के प्लाटों पर छूट पाने के अब सिर्फ दो मौके

बिजनेस के प्लाटों पर 25 %, आवासीय में 15% तक की छूट जारी

रायपुर 23 अक्टूबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण की कमल विहार योजना के डिस्काऊंट मॉडल को लगातार सफलता मिल रही है. इसके अतंर्गत 21 सितंबर से 31 अक्टूबर 2017 की अवधि में 2 प्रतिशत से 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. इस छूट का लाभ लेने के लिए लोगों ने लगभग 14 करोड़ के प्लाट खरीदे हैं. दी जा रही छूट के पाने के अब दो अवसर ही रह गए हैं. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव व्दारा शुरु किए गए डिस्काऊंट मॉडल के कारण बैंकों को दिए जाने वाले ब्याज राशि का सीधा फायदा खरीददारों को हुआ है.   
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने डिस्काऊंट मॉल के बारे में बताया कि कमल विहार योजना में प्लाटों के विक्रय में 2 से 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. लोगों ने इस छूट में अच्छी खासी रुचि दिखाई है. बिजनेस के प्लॉटों पर 25 प्रतिशत तक और आवासीय प्लाटों पर 2 से 15 प्रतिशत, स्कूल, क्लीनिक और अस्पताल निर्माण के लिए उपलब्ध प्लॉटों पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जा रही है. गत तीन हफ्तों में प्राधिकरण ने कमल विहार में ही लोगों ने छूट का फायदा उठाने के लिए लगभग 14 करोड़ रुपए के प्लाट खरीदे हैं. श्री कावरे के अनुसार डिस्काऊंट मॉडल की इस छूट का फायदा उटाने के लिए सिर्फ दो मौके ही रह गए हैं. बुधवार 25 अक्टूबर और मंगलवार 31 अक्टूबर को ही आवंटन होना है. इसलिए इन दो दिनों में ही छूट सहित प्लाटों का आवंटन किया जाएगा.    

Oct 16, 2017

आरडीए का प्रापर्टी लोन मेला kn भी

कमल विहार के ईडब्लूएस और एलआईजी में रुचि दिखा रहे हैं लोग

रायपुर, 12 अक्टूबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण त्यौहारों के मौके पर बिजनेस और घर के लिए लोन के साथ प्रापर्टी खरीदने वालों के लिए लगाए गए मेले का कल दूसरा और अंतिम दिन है. यह मेला प्राधिकरण कार्यालय परिसर के व्दितीय तल पर प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे के अनुसार मेला में प्राधिकरण की ओर से फ्लैट्स, प्लॉट, दुकानों की उपलब्धता और वित्तदायी संस्थाओं बैंक व नॉन बैंकिंग संस्थाओं के माध्यम से लोगों को काफी सुविधा हो रही है. बैंकों और नान बैंकिंग को भी रायपुर विकास प्राधिकरण की संपत्तियों की जानकारी तथा अनुमोदित मानचित्र होने के कारण उन्हें प्रापर्टी पर ऋण देने में काफी भरोसा होता है इसलिए उनको ऋण देने में काफी आसानी होती है.      
प्राधिकरण कार्यालय परिसर में आयोजित प्रापर्टी मेला में विभिन्न राष्ट्रीयकृत एवं निजी बैंक तथा नॉन बैंकिग संस्थाएं संस्थाओं के अधिकारी और कर्मचारी लोगों को पात्रतानुसार दिए जाने वाले ऋण की प्रक्रिया तथा उसकी किस्तों की जानकारी भी दे रहें हैं. श्री कावरे के अनुसार कमल विहार योजना में प्लाटों के विक्रय में 2 से 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. लोगों ने इस छूट में अच्छी खासी रुचि दिखाई है. बिजनेस के प्लॉटों पर 25 प्रतिशत तक और आवासीय प्लाटों पर 2 से 15 प्रतिशत, स्कूल, क्लीनिक और अस्पताल निर्माण के लिए उपलब्ध प्लॉटों पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जा रही है.
श्री कावरे ने आगे बताया कि कमल विहार में पहली बार निम्न एवं मध्यम वर्ग के लिए प्रस्तावित ईडब्लूएस व एलआईजी फ्लैट्स लेने के लिए काफी लोग आ रहे हैं, प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत केन्द्रीय अनुदान य ब्याज ऋण में छूट के कारण इसमें काफी पूछताछ हो रही है. प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना में 5 लाख रुपए के 2 बीएचके ईडब्लूएस फ्लैट्स, 8 लाख रुपए के 2 बीएचके फ्लैट्स एलआईजी1 और साढ़े 10 लाख के 3 बीएचके के एलआईजी2 फ्लैट्स निर्माण की योजना काफी समय बाद तब लाई गई है जब कमल विहार में अधिकांश अधोसंरचना विकास का कार्य पूरा हो चुका है. प्राधिकरण व्दारा प्रस्तावित इन फ्लैट्स का निर्माण पूर्व से आरक्षित भूखंडों पर करेगा.   

Oct 12, 2017

कमल विहार में सस्ते और वाजिब कीमत के घर तलाश करने वालों को भाया 3 बीएचके फ्लैट्स

3 बीएचके एलआईजी 2 फ्लैट्स के आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर
प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत केन्द्रीय अनुदान या ब्याज अनुदान की सुविधा

रायपुर, 9 अक्टूबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण के साढ़े 10 लाख में  कमल विहार में 3बीएचके यानि एक ड्रॉईंग रुप, रसोई और तीन बेड रुम के फ्लैट्स की बुकिंग के प्रति लोग काफी
रुचि दिखा रहें हैं. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे के अनुसार 9 दिनों मे 211 लोगों ने एलआईजी2 के लिए  आवेदन पत्र खरीदा है. इसके अंतर्गत कुल 512 फ्लैट्स का निर्माण होना है. इसके आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर रखी गई है. जबकि ईडब्लूएस व एलआईजी1 के आवेदन पत्र 30 नवंबर 2017 तक भरे जा सकेंगे.
श्री कावरे के अनुसार लोगों को 3बीएचके एलआईजी फ्लैट्स के साथ दो टायलेट, यूटिलिटी बाल्कनी और बेडरुम में बालक्नी की सुविधा के कारण यह लोगों को आकर्षित कर रहा है. 645 वर्गफुट के कारपेट एरिया में लिफ्ट, अग्निशमन, पॉर्किंग और विट्रीफाईड टाईल्स की जैसी सुविधा ने लोगों को एक बेहतरीन विकल्प चुनने का अवसर दिया है. उन्होंने बताया कि प्राधिकरण की अन्य संपत्तियों जिसमें फ्लैट्स व प्लॉट्स शामिल है के मुकाबले लोगों ने कमल विहार के 3बीएचके फ्लैट्स में इतना ज्यादा उत्साह दिखाया है कि इससे लगता है जैसे लोग ऐसे ही सस्ते और वाजिब कीमत के घर की तलाश में थे. श्री कावरे के अनुसार इन फ्लैट्स के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत बैंकों के माध्यम से आवास ऋण पर केन्द्रीय अनुदान या ब्याज अनुदान लेने की सुविधा भी मिलेगी.
श्री कावरे के अनुसार कमल विहार के सेक्टर 4 में प्रस्तावित फ्लैट्स में 5 लाख रुपए के दो बीएचके फ्लैट्स के ईडब्लूएस, 8 लाख रुपए के दो बीएचके एलआईजी फ्लैट्स की बुकिंग का आफर भी लोगों को अच्छा लग रहा है. उन्होंने कहा कि त्योहारों के अवसर पर प्राधिकरण लोगों को सस्ते और वाजिब कीमत में उनके घर लेने के सपनों को साकार करने के लिए प्रापर्टी लोन मेला भी लगा रहा है जो 16 व 17 अक्टूबर को प्राधिकरण कार्यालय में प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक होगा. इसमें प्राधिकरण के फ्लैट्स,प्लाट्स, दुकानें इत्यादि की जानकारी तो देगा साथ ही बैंकों व नॉन बैंकिग सस्थाओं के माध्यम से ऋण की जानकारी देने के लिए उनके प्रतिनिधि भी उपलब्ध रहेंगे. 

Oct 9, 2017

आरडीए का प्रापर्टी लोन मेला 16 व 17 अक्टूबर को

बैकिंग और नॉन बैंकिग संस्थाओं के साथ आवास और बिजनेस लोन 
रायपुर, 9 अक्टूबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण इस त्यौहारों के मौके पर  16 व 17 सितंबर को संपत्ति खरीदने के लिए विशेष रुप से प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन कर रहा है. दो दिवसीय यह मेला प्राधिकरण कार्यालय परिसर के व्दितीय तल पर प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव के अनुसार इस मेले में प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं में उपलब्ध सस्ते एवं वाजिब कीमत के फ्लैट्स, कमल विहार व इन्द्रप्रस्थ रायपुर की योजनाओं में उपलब्ध विकसित प्लॉट, डुप्लेक्स भवन, शैलेन्द्रनगर व बोरियाखुर्द की दुकानों इत्यादि की जानकारी देगा. इस दौरान विभिन्न राष्ट्रीयकृत एवं निजी बैंक तथा नॉन बैंकिग संस्थाएं संस्थाओं के अधिकारी और कर्मचारी उपलब्ध रहेंगे. उन्होंने कहा कि एक ही स्थान पर संपत्तियों की जानकारी और आवास तथा बिजनेस ऋण की जानकारी ने लोगों को काफी सहूलियतें दी है.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि  कमल विहार योजना में प्लाटों के विक्रय में 2 से 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है.  लोगों ने इस छूट में अच्छी खासी रुचि दिखाई है. बिजनेस के प्लॉटों पर 25 प्रतिशत तक और आवासीय प्लाटों पर 2 से 15 प्रतिशत, स्कूल, क्लीनिक और अस्पताल निर्माण के लिए उपलब्ध प्लॉटों पर 15 प्रतिशत तक की छूट दी जा रही है. गत तीन हफ्तों में प्राधिकरण ने कमल विहार में ही लगभग 10 करोड़ रुपए के प्लाटों की बिक्री की है.

श्री कावरे ने आगे बताया कि कमल विहार में पहली बार निम्न एवं मध्यम वर्ग के लिए प्रस्तावित ईडब्लूएस व एलआईजी फ्लैट्स की जानकारी लेने के लिए लोग आ रहे हैं, काफी संख्या में पूछताछ भी हो रही है. इसे आवेदन पत्र भी अचछी संख्या में बिक रहे हैं. प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना में 5 लाख रुपए के 2 बीएचके ईडब्लूएस फ्लैट्स, 8 लाख रुपए के 2 बीएचके फ्लैट्स एलआईजी1 और साढ़े 10 लाख के 3 बीएलचेक एलआईजी2 फ्लैट्स निर्माण की योजना काफी समय बाद तब लाई गई है जब कमल विहार में अधिकांश अधोसंरचना विकास का कार्य पूरा हो चुका है. प्राधिकरण व्दारा प्रस्तावित इन फ्लैट्स का निर्माण पूर्व से आरक्षित भूखंडों पर किया जाएगा.   

Oct 3, 2017

कमल विहार में 498.96 करोड़ रुपए के 1274 विकसित प्लाट बिके 814 की बिक्री जारी

भारी छूट के बाद दस दिनों में 8.96 करोड के 22 प्लाट बिके


रायपुर 03 अक्टूबर 2017, कमल विहार में रायपुर विकास प्राधिकरण ने पिछले चार सालों में 1274 प्लाट बेचे हैं. विक्रय  किए गए प्लाटों की कुल कीमत लगभग 498.96 करोड़ रुपए होती है. इनमे आवासीय के 916, बिजनेस के 262 प्लाट, सार्वजनिक व अर्ध्द सार्वजनिक उपयोग के 70, आवासीय सह व्यावसायिक के 4 प्लाट, क्लीनिक व अस्पताल बनाने के लिए स्वास्थ्य के 5 प्लाट तथा स्कूल बनाने के लिए 8 प्लाटों अब तक बेचे जा चुके हैं. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव के अनुसार कमल विहार मे लगभग साढ़े 8 हजार प्लाट है जिनमें से 2088 प्लाट रायपुर विकास प्राधिकरण के पास है शेष लगभग स 6 हजार चार सौ प्लाट उन भूमि स्वामियों के हैं जिन्होंने कमल विहार योजना के निर्माण के लिए प्राधिकरण के साथ भागीदारी कर योजना बनाने में अपना सहयोग दिया है.    
रायपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे के अनुसार कमल विहार के विकसित प्लाटों में संचालक मंडल के फैसले के बाद से 31 अक्टूबर 2017 तक 25 प्रतिशत तक की भारी छूट दी जा रही है. इनमें बिजनेस के सभी प्रकार के प्लाटों पर 25 प्रतिशत तक तथा आवासीय प्लाटों पर 2 से 15 प्रतिशत तक, स्वास्थ्य व शैक्षणिक उपयोग के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. यह छूट 21 सितंबर से 31 अक्टूबर 2017 तक ही दी जाएगी. छूट का लाभ तभी मिल पाएगा जब आवंटिती 60 दिनों के भीतर राशि का भुगतान करे. कमल विहार में प्लाटों का आवंटन हर बुधवार को किया जा रहा है.  

Sep 26, 2017

डिस्काऊंट मॉडल के साथ ही कमल विहार के प्लॉट बिक्री में तेजी

भारी छूट के साथ ही 4.10 करोड़ के प्लॉट बिके

रायपुर 23 सितंबर 2017, रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा कमल विहार के डिस्काऊंट मॉडल के आधार पर 2 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक की भारी छूट देने के बाद विकसित प्लॉटों की बिक्री में तेजी आ गई है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने अनुसार छूट की शुरुआत के साथ ही प्राधिकरण ने गत बुधवार को 4.10 करोड़ रुपए के विकसित प्लाटों की बुकिंग की. और अब त्यौहारों के अवसर पर शुभ मुहर्त देख कर लोग बिजनेस और आवासीय प्लाटों की खरीदी पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं.
प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे ने बताया कि कि प्राधिकरण कार्यालय में 21 से 23 सितंबर तक चले प्रापर्टी बैंक लोन मेला में भी संपत्ति लेने वालो ने काफी संख्या में जानकारी ली. प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट्स लेने वालों ने बैंकों तथा अन्य वित्तदायी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से ऋण के संबंध में भी जानकारी ली गई. श्री कावरे ने बताया कि कमल विहार के सीबीडी क्षेत्र में 5 एकड़ के बडें भूखंड को विभक्त कर 102 छोटे भूखंडों पर कई व्यवसायी अपनी रुचि दिखा रहे हैं. उन्होंने कहा कि उम्मीद है प्राधिकरण व्दारा 31 अक्टूबर 2017 तक बिजनेस प्लॉट पर दी जा रही 25 प्रतिशत की छूट का लाभ लेंगे। उन्होंने बताया कि गत दिनों प्राधिकरण की प्रेस कॉफ्रेंस में की गई घोषणा के अनुसार कमल विहार में 5 लाख, 8 लाख और 10.50 लाख रुपए के ईडब्लूएस, एलआईजी फ्लैट्स की बुकिंग भी शुरु कर दी गई है. ईडब्लूएस फ्लैट्स के पंजीयन के लिए रुपए 10 हजार, एलआईजी फ्लैट्स के लिए 20 हजार रुपए की राशि आवेदन पत्र के साथ देय होगी.                    

                                

Sep 20, 2017

आरडीए ने की 3 नई फ्लैट्स स्कीम की घोषणा

संपत्ति और ऋण देने कल से तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला
कमल विहार के प्लाटों पर भी भारी छूट

कमल विहार में 5,8 और 10.50 लाख के 2048 फ्लैट्स
इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में 17.78 व 27.05 लाख रुपए के 78 फ्लैट्स
न्यू राजेन्द्रनगर में 25.85 से 35.94 लाख रुपए के 124 फ्लैट्स

रायपुर, 20 सितंबर 2017रायपुर विकास प्राधिकरण ने आज तीन नई फ्लैट्स योजनाओं के निर्माण की घोषणा की है. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने आज तीन नई फ्लैट्स योजनाओं की घोषणा करते हुए बताया कि कमल विहार, इन्द्रप्रस्थ रायपुरा तता न्यू राजेन्द्रनगर में आधुनिक सुविधाओं के साथ कुल 2250 फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा. इसके अतिरिक्त कमल विहार के विकसित प्लाटों पर 2 से 25 प्रतिशत की छूट और कल से तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन भी किया जा रहा है.
श्री श्रीवास्तव ने बताया कि इसमें कमल विहार योजना के अतंर्गत 5 लाख रुपए के 768 ईड्ब्लूएस फ्लैट्स (2 बीएचके), 8 लाख रुपए के 768 एलआईजी – 1 (2 बीएचके) फ्लैट्स तथा 10.50 लाख रुपए में 512 एलआईजी - 2 फ्लैट्स (3 बीएचके) बनाए जाएंगे. इन्द्रप्रस्थ रायपुरा योजना में 17.78 लाख रुपए के 2 बीएचके तथा 27.05 लाख रुपए के 3 बीएचके के कुल 78 फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा. इसके अतिरिक्त न्यू राजेन्द्रनगर स्थित कार्यालय परिसर के पीछे मध्यम और उच्च वर्ग के लिए 25.85 लाख रुपए से 35.94 लाख रुपए की लागत वाले 2 व 3 बीएचके के 124 आवासयी फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा.
प्राधिकरण ने गत दिनों संचालक मंडल में हुए निर्णय के अनुसार 21 सितंबर से 31 अक्टूबर 2017 तक कमल विहार योजना के विकसित प्लॉटों में त्यौहारों के अवसर पर भारी छूट देने की घोषणा की है. विभिन्न उपयोग के प्लाटों पर अब 2 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक की छूट दी जाईगी. कमल विहार के विकसित हो रहे चार सेक्टरों में भी 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाएगी. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस में कमल विहार में विकसित प्लॉटों के विक्रय के लिए नए डिस्काऊंट मॉडल की घोषणा की
आरडीए के कार्यालय में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेस में अध्यक्ष श्री श्रीवास्तव ने बताया कि कमल विहार योजना के व्यावसायिक, आवासीय, व्यावसायिक सह आवासीय, स्वास्थ्य व शैक्षणिक उपयोग के निविदा से आवंटित किए जाने वाले प्लॉटों पर संचालक मंडल ने आकर्षक छूट दिए जाने की स्वीकृति प्रदान की है. सबसे ज्यादा छूट व्यावसायिक यानि बिजनेस के प्लाटों पर दी गई है. इसमें स्कीम लेवल व सेक्टर लेवल के बिजनेस प्लॉट्स, सार्वजनिक व अर्ध्दसार्वजनिक उपयोग, व्यावसायिक सह आवासीय (कम्पोजिट) तथा सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र का व्यावसायिक  प्लॉटों को एक साथ लेने पर सीधी 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. सीबीडी के प्लॉट यदि अलग अलग लिए जाते हैं तो ऐसी स्थिति में 15 प्रतिशत की छूट ही देय होगी. स्वास्थ्य और शैक्षणिक उपयोग के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट होगी. आवासीय प्लाटों में 2000 वर्गफुट से छोटे आकार के प्लाटों पर 2 प्रतिशत की, 2000 वर्गफुट से 3000 वर्गफुट तक के प्लाटों पर 10 प्रतिशत, 3000 से 5000 वर्गफुट तक के प्लॉटों पर 12 प्रतिशत तथा 5000 वर्गफुट से बड़े आकार के प्लाटों पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. जबकि कमल विहार के विकसित किए जा रहे सेक्टर 01,11ए, 11बी, 14बी सेक्टरों के सभी प्रकार के प्लॉटों में 5 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाएगी. प्राधिकरण आवासीय प्लाटों को लॉटरी के माध्यम से आवंटित करता है  जबकि अन्य सभी प्लाट निविदा के माध्मय से आवंटित होते हैं. संचालक मंडल ने पूर्व में लागू प्रो रेटा आधार पर दी जाने वाली छूट को अब खत्म कर दिया है. कमल विहार के विभिन्न प्रकार के प्लाटों पर दी गई यह छूट आवंटन आदेश की तिथि से 60 दिनों में भुगतान करने पर ही दी जाएगी.
3 दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला - संपत्ति खरीदने के इच्छुक लोगों के लिए प्राधिकरण ने अपने नए डिस्काऊंट मॉडल का आधार पर कल से तीन दिवसीय प्रापर्टी लोन मेला का आयोजन किया है. यह मेला रायपुर विकास प्राधिकरण के न्यू राजेन्द्रनगर कार्यालय परिसर के व्दितीय तल में होगा. 21, 22 व 23 सिंतबर 2017 होने वाला यह मेला प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा. प्रापर्टी लोन मेला में रायपुर विकास प्राधिकरण की विभिन्न योजनाओं में उपलब्ध प्लॉट्स, फ्लैट्स, डुप्लेक्स, दुकानें, हॉल के आवंटन एवं ऋण की जानकारी दी जाएगी. मेला में विभिन्न बैंकों व वित्तदायी संस्थाओं के अधिकारियों और प्रतिनिधियों से आगंतुकों की सीधी मुलाकात होगी. मेला में प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत जिन्हें फ्लैटस आवंटित किए गए हैं वे भी आवास ऋण लेने के लिए संपर्क कर सकते हैं. प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव ने अनुसार प्रापर्टी लोन मेला के माध्यम से संपत्ति क्रय करने वाले लोगों को एक ही स्थान पर प्रापर्टी व लोन की जानकारी मिलने से काफी सुविधा होती है तथा जानकारी मिलने पर संपत्ति खरीदने की पूरी प्रक्रिया भी आसान हो जाती है.


कमल विहार योजना में विशेष छूट का विवरण
क्रं.
प्लाटों का उपयोग
निर्धारित ऑफसेट दर
(रुपए में प्रति वर्गफुट में)
छूट का %
01
व्यावासायिक
स्कीम लेवल (5 एकड़ से भिन्न)
2680
25%
सेक्टर लेवल
2245
02
व्यावसायिक सह आवासीय (कम्पोजिट)
3340
03
सार्वजनिक – अर्ध्द सार्वजनिक
2094
04
व्यावसायिक
(सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र का पूरा प्लॉट एक साथ लेने पर)
2680
05
व्यावसायिक
(सीबीडी क्षेत्र के 5 एकड़ क्षेत्र में अलग – अलग प्लाट लेने पर)
2680
15%
06
स्वास्थ्य
1392
15%
07
शैक्षणिक
696
15%
08
आवासीय

2000 वर्गफुट तक
1781
02%
2000 से 3000 वर्गफुट तक

1696

10%
3000 से 5000 वर्गफुट तक
12%
5000 वर्गफुट से बड़ा आकार
15%
कमल विहार योजना के विकसित हो रहे सेक्टर 01,11ए,11बी,14बी के
सभी प्रकार के प्लाटों में 5% की अतिरिक्त छूट उपलब्ध
टीपः- (1) विशेष छूट आवंटन आदेश की तिथि के 60 दिनों तक भुगतान करने पर ही मिलेगी. (2) आवंटन टीपः- (1) विशेष छूट आवंटन आदेश की तिथि के 60 दिनों तक भुगतान करने पर ही मिलेगी. (2) आवंटन हर सप्ताह बुधवार व अंतिम तिथि 31.10.2017 को किया जाएगा.(3) आवासीय प्लाटों का आवंटन लॉटरी से तथा अन्य सभी प्लॉटों का आवंटन निविदा के माध्यम से किया जाएगा. आवेदन पत्र प्राधिकरण कार्यालय अथवा वेबसाईट www.rdaraipur.com से डाऊनलोड किया जा सकता है.